scorecardresearch
 

धर्म: पूजन से मिलेगा छठी मैय्या का आशीर्वाद

धर्म: पूजन से मिलेगा छठी मैय्या का आशीर्वाद

दुनिया का इकलौते ऐसे उत्सव की जिसमें डूबते हुए सूर्य को अर्घ्य देकर उनकी कृपा पाई जाती है. अस्ताचलगामी सूर्य की कृपा पाने का खास त्योहार है छठ. चार दिनी छठ पर्व का पहला दिन नहाय खाय का होता और दूसरा दिन खरना का और फिर तीसरे दिन अस्ताचल सूर्य को दिया जाता है पहला अर्घ्य.  हम आपको बताते हैं कि अस्ताचल यानी डूबते सूर्य को अर्घ्य क्यों दिया जाता है और क्या है इसकी महिमा.

It is believed that the celebration of Chhath puja may predate to the ancient Vedas, as the rituals performed during the puja are similar to the ones mentioned in Rig Veda, in which the Sun god is worshipped. People celebrate the festival by following a rigorous routine that lasts four days. It includes fasting for over 36 hours which also requires abstinence from drinking water. It also requires devotees to take a holy bath in a water body, and offer prayers to the rising and setting sun.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें