scorecardresearch
 

Punjab में बकाया बिजली बिल माफ करने वाली राजनीति के पीछे की कहानी! देखें 10तक

Punjab में बकाया बिजली बिल माफ करने वाली राजनीति के पीछे की कहानी! देखें 10तक

पंजाब में एक तरफ मुफ्त बिजली के वादे कर जनता को भ्रम में डाला जा रहा है, दूसरी तरफ पंजाब की सरकार के नए रूप में आने के बाद भी मंत्रियों की कुर्सी खाली दिख रही हैं. पूर्व मुख्यमंत्री दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मिल रहे हैं, मुख्यमंत्री पंजाब के सत्ता के समीकरण बैठाने में लगे हैं. ज्यादातर मंत्री सिद्धू के इस्तीफे के बाद अपनी अपनी खेमेबाजी में व्यस्त हैं. देश में प्रति व्यक्ति बिजली खपत में पंजाब तीसरे नंबर पर आता है. अब जो 1200 करोड़ रुपए बकाया बिल सरकारी खजाने से भरने की बात चन्नी सरकार कह रही है, वो पैसा उसी सरकारी खजाने आएगा जिसे जनता ने अपनी इच्छाओं को सीमित करके टैक्स देकर भरा है. बस सारा खेल यहीं होता है. समझें पंजाब में मुफ्ती बिजली की कहानी.

The Punjab government on Wednesday waived power bills of those having electricity connection of up to 2 kW, a move that will put a burden of Rs 1,200 crore on the exchequer. The decision was taken at a meeting of the state Cabinet chaired by Chief Minister Charanjit Singh Channi here. In this video, we will talk about politics of bill waiver.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें