scorecardresearch
 

Coronavirus कार में फैलता है, चुनावी रैलियों में डरता है? देखें दस्तक

Coronavirus कार में फैलता है, चुनावी रैलियों में डरता है? देखें दस्तक

पिछले साल से लगातार ये बात वैज्ञानिक तौर पर मानी गई है कि मास्क लगाना कोरोना से बचने का सबसे जरूरी, प्राथमिक और कारगर उपाय है. अब दिल्ली में हाईकोर्ट ने कार में अकेले सफर करने पर भी मास्क पहनना अनिवार्य बताया है. मास्क लगाने का नियम जनता के लिए जरूरी बताया जाए और नेताओं की रैली-प्रदर्शन में छूट दी जाए तो आम आदमी पूछने लगता है. क्या कोरोना कार में फैलता है और पार्टियों की रैली-प्रदर्शन में दम तोड़ देता है. क्या कोरोना जनता को जकड़ता है और पार्टी कार्यकर्ताओं को देखकर डरता है? देखें दस्तक, रोहित सरदाना के साथ.

India is reporting a sharp increase in coronavirus cases. Mask is the most important weapon to combat the COVID-19 pandemic. The Delhi High Court ordered that wearing a mask is mandatory in the car even if a person is driving alone. The laws are the same for every individual in the country. But in poll-bound states, politicians are continuously violating every Covid-19 norms. Now the question arises that does Coronavirus spread in cars but not in election campaigning? Watch this episode of Dastak.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें