scorecardresearch
 

10तक: धर्म के नाम पर गोलियां बरसा रहा Taliban, दूसरे इस्लामिक देश चुप क्यों?

10तक: धर्म के नाम पर गोलियां बरसा रहा Taliban, दूसरे इस्लामिक देश चुप क्यों?

धर्म जोड़ने का काम करता है, धर्म तोड़ने का काम नहीं करता. धर्म के नाम पर ही एक और देश का नाम रखा जा चुका है. सभ्यताओं के इतिहास वाले अफगानिस्तान को तालिबान ने इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान बना दिया है. लेकिन क्या इस्लाम को मानने वाले, इस्लाम के नाम पर खुद की पहचान दुनिया में रखने वाले देश खुद अफगानिस्तान की जनता के साथ खड़े हैं? अगर धर्म के नाम पर तालिबानी गोलियां बरसा सकते हैं तो फिर इस्लाम के नाम पर झंडा बुलंद करने वाले देश क्या कर रहे हैं? देखें 10तक.

Religion unites, it does not break. Another country has been named in the name of religion. Afghanistan has been made the Islamic Emirate of Afghanistan by the Taliban. But the countries that believe in Islam, are not with the people of Afghanistan. Taliban is firing bullets in the name of religion and the Islamic countries are silent about it.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×