scorecardresearch
 

चीन बॉर्डर पर बढ़ेगा टकराव या मोदी-जिनपिंग सुलझा लेंगे विवाद? देखिए दंगल रोहित सरदाना के साथ

चीन बॉर्डर पर बढ़ेगा टकराव या मोदी-जिनपिंग सुलझा लेंगे विवाद? देखिए दंगल रोहित सरदाना के साथ

लद्दाख में चीन के साथ भारत का विवाद जस का तस तनावपूर्ण बना हुआ है. वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीनी सैनिकों के आ डटने के बाद भारत ने अपने सैनिक वहां बढ़ा दिए हैं, तो इधर कूटनीतिक पारा भी चढ़ गया है. भारत-चीन के बीच मध्यस्थता की पेशकश करने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने फिर एक बयान दिया है. ट्रंप ने कहा कि -140 करोड़ लोगों और ताकतवर सेनाओं वाले 2 देशों भारत और चीन के बीच बड़ा विवाद बन गया है. भारत खुश नहीं, शायद चीन भी खुश नहीं, मैंने प्रधानमंत्री मोदी से बात की और चीन के साथ जो चल रहा है उससे उनका मूड अच्छा नहीं. ट्रंप के इस बयान को भारत विदेश मंत्रालय के सूत्रों ने खारिज किया है, क्योंकि अप्रैल से ही मोदी की ट्रंप से बात नहीं हुई है. लद्दाख में सीमा पर चीन के साथ मौजूदा विवाद 5 मई को शुरू हुआ था. मौजूदा विवाद पर उच्च स्तरीय बैठकों के बाद भारतीय रेस्पॉन्स यही है कि भारत कूटनीति के रास्ते भले तलाशे लेकिन सरहद पर अपनी मौजूदगी नहीं घटाएगा. 2017 में डोकलॉम विवाद में भी 76 दिनों बाद ही सही लेकिन भारत की ये रणनीति कारगर साबित हुई थी. देखिए दंगल.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें