scorecardresearch
 

आजतक पर फॉर्मूला वन के 60 साल की कहानी

आजतक पर फॉर्मूला वन के 60 साल की कहानी

ये ऐसा खेल है जिसमें खिलाड़ी जान हथेली पर लेकर मैदान में उतरता है. मैदान में आकर उसे दिखाई देती है रफ्तार, सुनाई देती है रफ्तार और समझ आती है रफ्तार. ये खेल वाकई बेहद खतरनाक है. इस खेल को देखने वालों को रोमांच महूसस होता है. किस पल कौन सी कार आगे निकल जाएगी और कौन सी कार रह जाएगी पीछे ये सब रफ्तार के हाथ में होता है. इस खेल में रोमांच को ये रफ्तार ही बढ़ा देती है क्योंकि इसके आगे कई बार बेबस हो जाता है एफ 1 ड्राइवर और दर्शकों को अपनी आंखों के सामने दिखाई देता है 'क्रैश'.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें