scorecardresearch
 

फॉर्मूला वन गरीब जनता के साथ क्रूर मजाक: सपा

सपा ने देश में पहली बार होने जा रही फार्मूला वन कार रेस के सपने को धरातल पर उतारने के लिये भारी धांधली किये जाने का आरोप लगाते हुए इसे प्रदेश की गरीब जनता के साथ सबसे क्रूर मजाक करार दिया और इसकी सीबीआई जांच की मांग की.

X
फॉर्मूला वन फॉर्मूला वन

सपा ने देश में पहली बार होने जा रही फार्मूला वन कार रेस के सपने को धरातल पर उतारने के लिये भारी धांधली किये जाने का आरोप लगाते हुए इसे प्रदेश की गरीब जनता के साथ सबसे क्रूर मजाक करार दिया और इसकी सीबीआई जांच की मांग की.

सपा की उत्तर प्रदेश इकाई के प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने एक बयान में कहा, ‘‘मुख्यमंत्री मायावती ने दौलतमंदों के मनोरंजन के साधन फार्मूला वन रेस के लिये किसानों की जमीन छीनी, अपने चहेते जेपी समूह को इस खेल का स्वामित्व सौंपकर उसे मनोरंजन कर, वाणिज्य कर, वैट, लक्जरी कर तथा बिक्री कर से नाजायज छूट दी. प्रदेश की गरीब जनता के साथ इससे बड़ा क्रूर मजाक और क्या होगा.’’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘मुख्यमंत्री की यह परम उदारता जांच का विषय है. जेपी समूह को सरकारी खजाने के नुकसान के बावजूद करों में इतनी छूट आखिर क्यों दी जा रही है. सीबीआई को इस बात की जांच करनी चाहिये इसमें मुख्यमंत्री की कैसी और कितनी साझेदारी है और उनका कितना धन इस समूह में और दूसरे व्यावसायिक समूहों में लगा हुआ है.’’

चौधरी ने कहा कि जिस प्रदेश में न तो बिजली, पानी और स्वास्थ्य सेवाओं की पर्याप्त व्यवस्था है और न ही किसानों को फसल का लागत मूल्य ही मिल रहा है, वहां हजारों लाखों रुपए के टिकट लेकर रेस देखने वालों के लिये पंचसितारा सुविधाएं जुटाने का क्या मतलब है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें