scorecardresearch
 

पितृ विसर्जन अमावस्या और देवी का आगमन

पितृ विसर्जन अमावस्या और देवी का आगमन

पितृ पक्ष अपने समापन की ओर है. साथ ही साथ नवरात्रि का शुभ आगमन भी होने वाला है. आइए जानें कि पितृ विसर्जन के बाद देवी का आगमन कैसे होगा. यानी देवी हमारे जीवन में कैसे प्रवेश करेंगी. नवरात्रि के शुभारंभ से पहले पितृ पक्ष का अर्थ है बिना अपने पितरो-पूर्वजों का आशीर्वाद लिए आप देवी-देवताओं की कृपा नहीं पा सकते.

navratri starts after pitri paksha. know all about worship of pitra and devi durga in navratri.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें