scorecardresearch
 

चाल चक्र: नरक चतुर्दशी की महिमा

चाल चक्र: नरक चतुर्दशी की महिमा

चाल चक्र में आज हम आपको बताएंगे क्या है नरक चतुर्दशी का पर्व, क्या है इसकी महिमा? दीपावली के एक दिन का पहले का दिन सौन्दर्य प्राप्ति और आयु प्राप्ति का होता है. इस दिन आयु के देवता यमराज और सौन्दर्य के प्रतीक शुक्र की उपासना की जाती है. इस दिन श्रीकृष्ण की उपासना भी की जाती है, क्योंकि इसी दिन उन्होंने नरकासुर का वध किया था.  कहीं कहीं पर ये भी माना जाता है की आज के दिन हनुमान जी का जन्म हुआ था. जीवन में आयु या स्वास्थ्य की अगर समस्या हो तो इस दिन के प्रयोगों से दूर हो जाती है.

Narak Chaturdashi is celebrated a day before Diwali by lightning a candle in the evening. As per Hindu beliefs, Lord Yamraj is worshipped on this day to get freedom from death and attain good health. In Chaal Chakra, our astrologer Shailendra Pandey will tell you the significance of Narak Chaturdashi. He will also tell you some simple tips to solve health and age related problems. Watch the full episode for more details.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें