scorecardresearch
 

Sudhir Chaudhary's Show: दंगों का बिजनेस मॉडल, CBSE नतीजों का विश्लेषण, देखें सुधीर चौधरी संग ब्लैक & व्हाइट

Sudhir Chaudhary's Show: दंगों का बिजनेस मॉडल, CBSE नतीजों का विश्लेषण, देखें सुधीर चौधरी संग ब्लैक & व्हाइट

Sudhir Chaudhary's Show: हमारे देश में समाज सेवा के नाम पर खोले गए ज्यादातर NGOs, बिजनेस चला रहे हैं. माना यही जाता है कि NGO समाज का उद्धार कर रहे हैं लेकिन सच्चाई थोड़ी अलग है. दंगा इनके लिए एक धंधा है और आपदा एक अवसर. देश में दंगा और प्राकृतिक आपदाओं के नाम पर राहत कार्य एक उद्योग बन चुका है जिसमें नेता वोट तलाशते हैं और NGOs नोट कमाते हैं. आपदा में अवसर देखने वाले ऐसे NGOs के सेलिब्रिटी सामाजिक कार्यकर्ताओं को इसके तीन लाभ हैं. इन्हें हम तीन P कहते हैं. सुधीर चौधरी के साथ ब्लैक एंड व्हाइट में देखिए ये खास विश्लेषण और अन्य खबरें.

Most of the NGOs opened in the name of social service in our country are running businesses. It is believed that NGOs are saving society but the truth is a little different. Riot is a business for them and disaster an opportunity. In the name of riots and natural calamities in the country, relief work has become an industry in which leaders seek votes and NGOs earn notes. It has three benefits for celebrity social workers of such NGOs who see opportunities in disasters. We call these the three Ps. Watch this exclusive analysis and other news in black and white with Sudhir Chaudhary.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें