scorecardresearch
 

UPSC: रोजाना 10-12 घंटे पढ़ाई, फोन से दूरी... भोपाल की सोनाली ने पहले ही प्रयास में पाई सफलता

UPSC Result Sonali Singh Parmar: सोनाली के मुताबिक, उन्होंने बचपन से घर पर प्रशासनिक अफसरों को आते-जाते देखा था. लिहाजा अफसर बनने का उनका बचपन का सपना था. सोनाली ने स्कूल की आठवीं तक की पढ़ाई सीहोर और उसके बाद 12वीं तक की पढ़ाई भोपाल से की है.

X
सोनाली ने UPSC में हासिल की 187वां रैंक 
सोनाली ने UPSC में हासिल की 187वां रैंक 
स्टोरी हाइलाइट्स
  • माता-पिता दोनों कृषि विभाग में असिस्टेंट डायरेक्टर
  • कृषि विभाग की डायरेक्टर प्रीति मैथिल हैं रोल मॉडल
  • करंट अफेयर्स के लिए रोजाना पढ़ती थीं अखबार

यूपीएससी सिविल सर्विस परीक्षा 2021 का रिजल्ट जारी कर दिया गया है. मध्य प्रदेश के भोपाल की सोनाली सिंह परमार ने 187वां रैंक हासिल की है. सोनाली रोजाना 10-12 घंटे पढ़ाई करती थीं. इस दौरान फोन से बिल्कुल दूरी बनाई रखती थीं.  

सोनाली की मां और पिता दोनों ही कृषि विभाग में असिस्टेंट डायरेक्टर हैं. सोनाली के मुताबिक, उन्होंने बचपन से घर पर प्रशासनिक अफसरों को आते-जाते देखा था. लिहाजा अफसर बनने का उनका बचपन का सपना था. माता-पिता दोनों ही कृषि विभाग में कार्यरत हैं. सोनाली ने भी कृषि विश्वविद्यालय से बीएससी एग्रीकल्चर की डिग्री हासिल की. सोनाली ने बताया कि स्कूल की आठवीं तक की पढ़ाई सीहोर से की है. उसके बाद 12वीं तक की पढ़ाई भोपाल में रहकर की.

सोनाली ने बताया कि वह रोजाना 10-12 घंटे पढ़ाई करती थीं. इस दौरान फोन से बिल्कुल दूरी बनाई रखती थीं. कृषि विभाग की डायरेक्टर IAS प्रीति मैथिल नायक उनकी रोल मॉडल है. UPSC की तैयारी के दौरान उनके टिप्स बहुत काम आए. आखिरकार पहले ही प्रयास में यूपीएससी क्लियर करने में मदद मिली. सोनाली के मुताबिक, वह करंट अफेयर्स की जानकारी के लिए रोजाना अखबार पढ़ती थीं और देश-दुनिया की हर हलचल से खुद को वाकिफ रखती थीं.

सोनाली के दादा मथुरा प्रसाद ने कहा कि उनकी घर की बेटी ने परिवार और जिले का नाम रोशन किया है. यह बहुत खुशी का पल है कि हमारे घर की बेटी का चयन यूपीएससी में हुआ है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें