scorecardresearch
 

प्रेग्नेंसी के इन साइड इफेक्ट्स के बारे में आपको शायद ही पता हो

गर्भवती महिला शारीरिक और मानसिक कई तरह के बदलावों से गुजरती है. एक ओर जहां उसे खुद को आने वाले जीवन के लिए तैयार करना पड़ता वहीं कई शारीरिक बदलावों को भी सहन करना पड़ता है.

प्रेग्नेंसी के साइड इफेक्ट्स प्रेग्नेंसी के साइड इफेक्ट्स

गर्भावस्था ऐसा समय होता है जबकि गर्भवती महिला शारीरिक और मानसिक कई तरह के बदलावों से गुजरती है. एक ओर जहां उसे खुद को आने वाले जीवन के लिए तैयार करना पड़ता वहीं कई शारीरिक बदलावों को भी सहन करना पड़ता है.

इन बदलावों का असर महिला के व्यवहार पर पड़ने के साथ ही उसके अंगों पर भी पड़ता है. इस दौरान महिला को हर रोज किसी न किसी तरह की परेशानी से गुजरना पड़ता है लेकिन शरीर के कुछ खास अंगों में दर्द होना सबसे तकलीफदेह होता है. इस दौरान शरीर के कुछ अंगों में अक्सर ही दर्द बना रहता है:

1. पीठ में दर्द होना
इस दौरान पीठ में दर्द होना बहुत आम है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि गर्भाशय में गर्भ पल रहा होता है जिससे आगे का भाग काफी भारी हो जाता है. पेट भारी हो जाने की वजह से पीठ में झुकाव आना शुरू हो जाता है. इस वजह से पीठ में लगभग हर रोज दर्द रहने लगता है.

2. पांव में दर्द होना
प्रेग्नेंसी के दौरान महिला के ऊपरी हिस्से का वजन काफी बढ़ जाता है. जिससे उसके पैरों पर बहुत अधिक भार पड़ने लगता है. इस वजन को हड्डियां सह नहीं पाती हैं और इसकी वजह से हमेशा ही पैरों में दर्द बना रहता है.

3. सिर दर्द
गर्भावस्था के दौरान हर सुबह सिर में भारीपन रहता है. इसका प्रमुख कारण ये भी होता है कि इस दौरान नींद अनियमित हो जाती है. ऐसे में नींद पूरी नहीं होने और हॉर्मोनल बदलावों चलते सिर में अक्सर दर्द बना रहता है.

4. ब्रेस्ट में दर्द
इस दौरान कई तरह के हॉर्मोनल परिवर्तन होते हैं जिसकी वजह से ब्रेस्ट बड़े और कड़े हो जाते हैं. जिसकी वजह से उनमें अक्सर दर्द बना रहता है.

5. पेट दर्द
शिशु के विकास के साथ-साथ महिला को एसिडिटी की समस्या शुरू हो जाती है. जिसकी वजह से जी मिचलाने के साथ ही पेट में दर्द भी बना रहता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें