scorecardresearch
 

नॉर्मल डिलीवरी चाहती हैं तो प्रेग्नेंसी में ये करना न भूलें...

अगर आप प्रेग्नेंट हैं और नॉर्मल डिलीवरी चाहती हैं तो प्रेग्नेंसी में एक्सरसाइज करने की आदत डालें. प्रेग्नेंसी में एक्सरसाइज न केवल सीजेरियन डिलीवरी का चांस कम करेगा, बल्क‍ि इससे डायबिटीज का खतरा भी कम हो जाएगा.

pregnancy pregnancy

प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज बच्चे के लिए सुरक्ष‍ित है और इससे सीजेरियन सेक्शन की आशंका कम हो जाती है. 16 देशों की 12,500 महिलाओं पर किए गए एक अध्ययन की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि जो महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करती हैं और सेहतमंद डायट लेती हैं, उनकी डिलीवरी नॉर्मल होती है.

बच्चों को पैदा होने से पहले ही 'संस्कारी' बनाने में जुटी RSS की विंग

बता दें कि ब्रिटेन में हर चौथा बच्चा सी सेक्शन से होता है. जबकि भारत के कुछ राज्यों में 50 फीसदी महिलाओं की डिलीवरी सी सेक्शन से ही होती है.

हालांकि डॉक्टर सीजेरियन डिलीवरी को भी सुरक्ष‍ित बताते हैं, लेकिन इसके जोख‍िमों से इंकार नहीं किया जा सकता. इसमें इंफेक्शन का डर हमेशा बना रहता है. क्योंकि डिलीवरी के दौरान शरीर से अत्यधि‍क खून निकल जाता है और अंगों को हुई क्षति के कारण भी इंफेक्शन का डर रहता है. इसकी वजह से बच्चे को सांस लेने में भी समस्या आ सकती है.

पिल्‍स से लाख गुना बेहतर हैं ये प्राकृतिक गर्भनिरोधक

इससे पहले हुए अध्ययन के नतीजों में यह बात सामने आई कि 47 फीसदी महिलाओं का वजन 9वें महीने में अत्यध‍िक होने के कारण सीजेरियन का रास्ता अपना पड़ता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ज्यादातर महिलाएं ये सोचती हैं कि प्रेग्नेंसी के दौरान महिला को दो लोगों के लिए खाना चाहिए. 

हाल ही में लंदन स्थ‍ित क्वीन मैरी यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने 36 क्लीनिकल ट्रायल के डेटा का अध्ययन किया और पाया कि  मोटापा सीजेरियन डिलीवरी की सबसे बड़ी वजह है. दरअसल, इस दौरान महिलाएं एक्सरसाइज करना पूरी तरह छोड़ देती हैं और वो ज्यादा से ज्यादा आराम करती हैं, जिसकी वजह से उनका वजन बढ़ जाता है.

 इन 5 बातों का रखेंगी ख्याल तो विकलांग पैदा नहीं होगा बच्चा

 ब्रिटिश मेडिकल जरनल में प्रकाश‍ित इस रिपोर्ट के अनुसार गर्भावस्था के दौरान एक्सरसाइज करने और हेल्दी डायट लेने वाली महिलाओं में वजन बढ़ने का खतरा कम हो जाता है. यहां तक उनमें डायबिटीज जैसी बीमारी के विकसित होने का जोख‍िम भी 24 प्रतिशत कम हो जाता है और उन्हें सीजेरियन सेक्शन की जरूरत नहीं पड़ती.

प्रेग्नेंसी में ये ना करें

1. बहुत वसायुक्त चीजें न खाएं

2. ज्यादा चीनीयुक्त खाद्य पदार्थों से भी दूर ही रहें.

3. कोल्ड ड्रिंक या इसी तरह की डब्बा बंद चीजों को खाने-पीने से परहेज करें.

इस बात का ध्यान जरूर रखें 

 1. रॉयल कॉलेज ऑफ अब्सटेट्र‍िश‍ियन्स एंड गाइनेकोलोजिस्ट्स के अनुसार प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को कम से कम 30 मिनट एरोबिक्स एक्सरसाइज करना चाहिए. इसमें दौड़ना, डांस करना और स्वीमिंग शामिल है. लेकिन तबियत खराब लगे तो एक्सरसाइज रोक दें.

2. इस बात का भी ध्यान रहे कि प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज इंटेंस न हो. प्रेग्नेंसी के दौरान योग आसन करना भी लाभकारी होता है.  

3 . खूब सारी सब्ज‍ियां और फल खाने की भी सलाह दी जाती है. लेकिन ध्यान रहे कि फलाें की साफ-सफाई भी उतनी ही जरूरी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें