scorecardresearch
 

कभी 'टंचमाल' तो कभी 'टनाटन', महिलाओं पर नेताओं के बिगड़े बोल!

भारतीय राजनीति में छोटे-बड़े ऐसे कई नेता हुए हैं जिनकी जुबान का निशाना महिलाएं बनी हैं और फिर बवाल मचा है. पढ़ें ऐसे ही कुछ नेताओं की जुबान से निकले कुछ बोल वचन...

महिलाओं पर नेताओं के विवादित बयान महिलाओं पर नेताओं के विवादित बयान

भारतीय राजनीति में नेताओं के विवादित बयान सुनने को मिलते रहते हैं. कई बार भारतीय राजनेताओं की जुबान का निशाना महिलाएं बनी हैं और फिर बवाल मचा है. देखिए, जब भारतीय नेताओं ने मर्यादा की सीमा तोड़ते हुए की बयानबाजी...

मुलायम सिंह यादव

समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने एक रैली में कहा था, "जब लड़के और लड़कियों में कोई विवाद होता है तो लड़की बयान देती है कि लड़के ने मेरा बलात्कार किया. इसके बाद बेचारे लड़के को फांसी की सजा सुना दी जाती है. बलात्कार के लिए फांसी की सजा अनुचित है. लड़कों से गलती हो जाती है."

इन 10 अधिकारों के बारे में हर महिला को पता होना चाहिए

दिग्विजय सिंह

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी महिलाओं पर कई बार विवादित बयान दिए. एक पार्टी कार्यक्रम में उन्होंने जयंती नटराजन को 'टंच माल' कह दिया था. दिग्गी ने एक बार राखी सावंत पर टिप्पणी करते हुए कहा था अरविंद केजरीवाल और राखी सावंत जितना एक्सपोज करने का वादा करते हैं उतना करते नहीं हैं. उनके इस बयान पर राखी न उन्हें 'सठिया गए हैं' कहकर झिड़का था.

शरद यादव

शरद यादव महिलाओं पर कई बार अभद्र टिप्पणी कर चुके हैं. जेडीयू नेता शरद यादव ने बयान दिया था कि बेटियों की इज्जत से वोट की इज्जत बड़ी है, जिसके बाद सभी तरफ से इसका बयान का खंडन किया गया. शरद यादव ने साउथ की महिलाओं को लेकर कहा था, 'साउथ की महिला जितनी ज्‍यादा खूबसूरत होती है, जितना ज्‍यादा उसकी बॉडी...वह पूरा देखने में काफी सुंदर लगती है. वह नृत्‍य जानती है.'  महिला आरक्षण विधेयक जब पहली बार संसद में रखा गया था तब उन्होंने कहा था कि, इस विधेयक के जरिए क्‍या आप 'परकटी महिलाओं' को सदन में लाना चाहते हैं.

कैलाश विजयवर्गीय

बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था, महिलाओं को ऐसा श्रृंगार करना चाहिए, जिससे श्रद्धा पैदा हो, न कि उत्तेजना. कभी कभी महिलाएं ऐसा श्रृंगार करती हैं, जिससे उत्तेजित हो जाते हैं लोग. बेहतर हैं कि महिलाएं लक्ष्मण रेखा में रहें. होली मिलन के एक कार्यक्रम में बीजेपी महासचिव ने कांग्रेस सांसद शशि थरूर को 'महिलाओं का शौकीन' बताया था.

बंसीलाल महतो

छत्तीसगढ़ के कोरबा से बीजेपी सांसद बंसीलाल महतो ने राज्य की लड़कियों के लिए ऐसे शब्द का इस्तेमाल किया था, जिसे लेकर उनकी काफी आलोचना हुई थी. महतो ने छत्तीसगढ़ के खेल मंत्री भैयालाल राजवाड़े का नाम लेते हुए कहा था कि वो अक्सर बोला करते हैं कि अब बालाओं की जरूरत मुंबई और कलकत्ता से नहीं है, कोरबा की टूरी और छत्तीसगढ़ की लड़कियां टनाटन हो गई हैं.

जितेंद्र छत्तर

हरियाणा के खाप पंचायत नेता जितेंद्र छत्तर ने कहा था, समाज में बढ़ती बलात्कार की घटनाओं पर पूछे गए सवाल पर हरियाणा की एक खाप पंचायत के नेता जितेंद्र छत्तर ने कहा था, "मेरे ख़्याल से फास्ट फूड खाने से बलात्कार की घटनाएं बढ़ती हैं. चाऊमीन खाने से शरीर के हार्मोन में असंतुलन पैदा होता है. इसी वजह से इस तरह के कार्य करने का मन करता है."

सुब्रमण्यन स्वामी

राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने एक बार प्रियंका गांधी के लिए कहा था, 'वह बनारस से चुनाव हार जाएंगी क्योंकि बहुत शराब पीती हैं.' नेहरू और लेडी माउंटबेटन के संबंधों पर भी स्वामी विवादित टिप्पणी कर चुके हैं.

श्रीप्रकाश जायसवाल

बीजेपी नेता ने एक बार बयान दिया था कि, नई शादी का मजा ही कुछ और होता है और ये तो सब जानते हैं कि पुरानी बीवी में वो मजा नहीं रहता.

मनोहर पर्रिकर

गोवा के मुख्यमंत्री और भारत के पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने हाल ही में लड़कियों के शराब पीने पर चिंता जाहिर करते हुए कहा था- 'मैं डरने लगा हूं क्योंकि अब तो लड़कियां भी शराब पीने लगी हैं. सहने की क्षमता खत्म हो रही है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें