scorecardresearch
 

ये चीजें बढ़ा सकती हैं कैंसर का खतरा, अंडे के दीवाने भी हो जाएं सावधान

एक नई स्टडी के मुताबिक, कॉफी और अंडे एक गंभीर कैंसर का खतरा बढ़ाने का काम करते हैं. ये स्टडी ईरान यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेज, इंपीरियल कॉलेज लंदन और कनाडा के निपिसिंग यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने की है.

ओवेरियन कैंसर को बढ़ाने के पीछे कई वजहें जिम्मेदार हैं ओवेरियन कैंसर को बढ़ाने के पीछे कई वजहें जिम्मेदार हैं
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महिलाओं में ओवेरियन कैंसर का खतरा ज्यादा
  • डाइट पर दें खास ध्यान
  • अंडे और कॉफी के ज्यादा सेवन से नुकसान

कॉफी और अंडे ये दोनों ऐसी चीजें हैं जिसे ज्यादातर लोग ब्रेकफास्ट में खाना पसंद करते हैं. हालांकि, सेहत के हिसाब से ये खतरनाक भी साबित हो सकता है. एक नई स्टडी के मुताबिक, कॉफी और अंडे गंभीर कैंसर का खतरा बढ़ाने का काम करते हैं. ये स्टडी ईरान यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेज, इंपीरियल कॉलेज लंदन और कनाडा के निपिसिंग यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने की है.

क्या कहती है स्टडी- ओवेरियन कैंसर (Ovarian cancer) को ध्यान में रखकर की गई ये स्टडी जर्नल ऑफ ओवेरियन रिसर्च में छपी है. स्टडी में कहा गया है, 'सर्वाइकल और यूटेराइन के बाद महिलाओं में ओवेरियन कैंसर सबसे ज्यादा होता है. इसका पता आमतौर पर तब तक नहीं चलता है जब तक कि ये पूरे पेट में नहीं फैल जाता. इनकी पहचान करके इन्हें रोकने का इलाज करना ओवेरियन कैंसर से बचाव का सबसे प्रभावी तरीका है.'

स्टडी में कहा गया है कि ओवेरियन कैंसर को बढ़ाने के पीछे कई वजहें जिम्मेदार हैं. कुछ महिलाओं में ये आनुवंशिक हो सकता है. शोधकर्ताओं के अनुसार कुछ ट्रीटमेंट की वजह से भी ओवेरियन कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है जैसे कि एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन थेरेपी ओवेरियन कैंसर का खतरा (Ovarian cancer risk) बढ़ाती है. इसके अलावा जैसे कि डायबिटीज, एंडोमेट्रियोसिस और पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम जैसी बीमारियां भी इस खास कैंसर को बढ़ाती हैं.

शोधकर्ताओं के अनुसार, कुछ महिलाएं अपनी लाइफस्टाइल की वजह से इस खतरे को बढ़ा देती हैं जैसे कि मोटापा या फिर स्मोकिंग. स्टडी में खानपान से जुड़ी कुछ चीजों को भी ओवेरियन कैंसर के लिए जिम्मेदार माना गया है. शोधकर्ताओं की इस सूची में कॉफी, अंडे, अल्कोहल और फैट वाली चीजें शामिल हैं. ये सारी चीजें ओवेरियन कैंसर का खतरा बढ़ाती हैं. कॉफी में पाया जाने वाला कैफीन डीएनए म्यूटेशन को बढ़ाता है और ट्यूमर सप्रेसर को बाधित करता है जिसकी वजह से कैंसर वाली कोशिकाएं बढ़ने लगती हैं. एक अन्य स्टडी के मुताबिक एक दिन में पांच कप या इससे ज्यादा कॉफी पीने वालों में ओवेरियन कैंसर की संभावना बढ़ जाती है. खासतौर से मेनोपॉज के बाद इसका खतरा ज्यादा होता है.

एक अन्य स्टडी के मुताबिक अंडा ना खाने वाली महिलाओं की तुलना में बहुत ज्यादा अंडा खाने वाली महिलाओं में भी ओवेरियन कैंसर होने की संभावना होती है. अंडे की ज्यादा मात्रा को ज्यादा कोलेस्ट्रोल से जोड़ कर देखा जाता है जो इस गंभीर कैंसर की एक वजह मानी जाती है. हालांकि, कुछ शोधकर्ताओं का कहना है कि अंडे में सैचुरेटेड फैट कम होता है और इसे सीमित मात्रा में हर दिन खाया जा सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें