scorecardresearch
 

आखिर क्यों दी जाती है गर्भावस्था में केसर लेने की सलाह?

आमतौर पर ऐसा कहा जाता है कि अगर गर्भवती महिला केसर का सेवन करे तो उसका होने वाला बच्चा गोरा होता है. पर विशेषज्ञों की मानें तो बच्चे का गोरा या सांवला होना पूरी तरह जीन पर निर्भर करता है. केसर के सेवन से रंग पर भले असर न पड़ता हो लेकिन इसके कई दूसरे स्वास्थ्य लाभ हैं.

गर्भावस्था में केसर खाने के फायदे गर्भावस्था में केसर खाने के फायदे

आपने भी बड़े-बुजुर्गों को कहते सुना होगा कि गर्भावस्था में केसर लेना मां और बच्चे दोनों के लिए बहुत फायदेमंद होता है. केसर दुनिया के सबसे महंगे मसालों में से एक है. औषधीय गुणों से भरपूर केसर का इस्तेमाल लोग मुख्य रूप से गोरी और निखरी त्वचा पाने के लिए करते हैं. पर सेहत के लिहाज से भी ये काफी फायदेमंद है.

केसर में थियामाइन और रिबोफ्लेविन नामक तत्व मौजूद होते हैं. आमतौर पर ऐसा कहा जाता है कि अगर गर्भवती महिला केसर का सेवन करे तो उसका होने वाला बच्चा गोरा होता है. पर विशेषज्ञों की मानें तो बच्चे का गोरा या सांवला होना पूरी तरह जीन पर निर्भर करता है. केसर के सेवन से रंग पर भले असर न पड़ता हो लेकिन इसके कई दूसरे स्वास्थ्य लाभ हैं.

1. गर्भावस्था में अक्सर महिलाओं की आंखों में सूजन आ जाती है और आंखें लाल हो जाती हैं. ऐसे में केसर वाला दूध पीना काफी फायदेमंद रहता है. केसर वाला दूध पीने से आंखों को राहत मिलती है.

2. गर्भावस्था में पाचन संबंधी कई समस्याएं हो जाती हैं. कब्ज, गैस और अपच जैसी समस्याएं गर्भावस्था में हो जाना आम है. केसर के सेवन से पाचन क्रिया बेहतर बनी रहती है और ब्लड-सर्कुलेशन भी ठीक रहता है.

3. केसर, प्यूरीफायर की तरह काम करता है. ये शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थ को दूर करने का काम करता है.

4. केसर एक बेहतरीन दर्दनिवारक है. केसर के इस्तेमाल से गर्भावस्था में होने वाली ऐंठन और मरोड़ में आराम मिलता है.

5. गर्भवती महिला को तरह-तरह की दवाइयां लेनी होती हैं जिससे कई बार ब्लड-प्रेशर बढ़ जाता है. ऐसे में प्रतिदिन केसर के दो से तीन रेशे दूध के साथ लेना फायदेमंद होता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें