scorecardresearch
 

अबॉर्शन पिल्स लेकर पोलैंड जाएगा ड्रोन

महिलाओं के अधिकारों के लिए आवाज उठाने वाली एक संस्था ड्रोन के माध्यम से अबॉर्शन पिल्स को जर्मनी से पोलैंड भेजने की योजना बना रही है.

महिलाओं के अधिकारों के लिए आवाज उठाने वाली एक संस्था ड्रोन के माध्यम से अबॉर्शन पिल्स को जर्मनी से पोलैंड भेजने की योजना बना रही है. पोलैंड की महिलाओं को भी सुरक्षित गर्भपात का विकल्प देने के लिए यह कदम उठाया गया है.

इस ड्रोन को अबॉर्शन ड्रोन नाम दिया गया है. इस ड्रोन में वही पिल्स मौजूद होंगी जिन्हें विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से मंजूरी मिली हुई है. ये ड्रोन जर्मनी के फ्रैंकफर्ट से पोलैंड के सीमावर्ती कस्बे सूबिसे के लिए भेजा जाएगा, जहां इसे महिलाएं रिसीव करेंगी. ये संगठन की जिम्मेदारी होगी कि वो इन पिल्स को जरूरतमंद महिलाओं को दे. वुमेन ऑन वेव्स नाम की संस्था कुछ डॉक्टर्स और समाजसेवकों का एक ग्रुप है.

दरअसल, पोलैंड में सख्ती के साथ रोमन कैथोलिक धर्म का अनुसरण किया जाता है. ये यूरोप की कुछ ऐसी जगहों में से है जहां एक महिला कानूनी रूप से तभी अबॉर्शन करा सकती है जबकि वो रेप पीडि़ता हो या फिर बच्चे को जन्म देने में उसकी जान को खतरा हो या गर्भ में पल रहा बच्चा विकृत हो.

इस ग्रुप से जुड़ी रेबेका गोमपर्ट्स का कहना है कि ऐसा करके वो समाज में महिलाओं के सुरक्षित गर्भपात के अधिकार के प्रति जागरुकता बढ़ाना चाहती हैं.

आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि पोलैंड के कैथोलिक अस्पताल कई बार देश के कानून के तहत भी अबॉर्शन कराने वाली महिला की मदद करने से इनकार कर देते हैं. भले ही ये उनकी जिन्दगी का सवाल हो. अमीर लोग तो अबॉर्शन के लिए जर्मनी या फिर यूके चले जाते हैं लेकिन गरीब महिलाओं के लिए कोई दूसरा विकल्प न‍हीं होता है.

संस्था शनिवार को इस ड्रोन को पोलैंड भेजने की योजना बना रही है. उनका कहना है कि इस मिशन के सफल होने पर वे यूरोप के दूसरे देशों में भी ऐसा ड्रोन भेजने के लिए प्रयास करेंगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें