scorecardresearch
 

अगर आप भी हैं एक्ट‍िव फेसबुक यूजर तो टूट सकती है आपकी शादी

फेसबुक के अगर बहुत से फायदे हैं तो उसके कुछ नुकसान भी हैं. फेसबुक सिक्योरिटी को लेकर हुई आपकी छोटी सी लापरवाही भी आपको साइबर क्राइम का विक्ट‍िम बना सकती है. पर हाल में हुए एक सर्वे के मुताबिक, फेसबुक की लत रिश्तों में दरार ला सकती है.

X
फेसबुक का रिश्तों पर असर फेसबुक का रिश्तों पर असर

फेसबुक के अगर बहुत से फायदे हैं तो उसके कुछ नुकसान भी हैं. फेसबुक सिक्योरिटी को लेकर हुई आपकी छोटी सी लापरवाही भी आपको साइबर क्राइम का विक्ट‍िम बना सकती है. पर हाल में हुए एक सर्वे के मुताबिक, फेसबुक की लत रिश्तों में दरार ला सकती है.

एक सर्वे के मुताबिक, फेसबुक यूज करने वाले लगभग 47 फीसदी लोगों ने ये माना है कि वो कभी न कभी भावनात्म रूप से धोखे का शिकार हुए हैं या उन्होंने खुद भी ऐसा किया है. सर्वे के मुताबिक, फेसबुक की वजह से भावनात्मक रिश्ते बहुत प्रभावित होते हैं. लगभग पांच हजार फेसबुक यूजर्स पर कराए गए इस सर्वे के मुताबिक, फेसबुक रोमांटिक रिश्तों पर बुरा प्रभाव डालता है.

इस सर्वे के लिए जिन 5000 यूजर्स को चुना गया उनकी उम्र 33 साल के आस-पास थी. 12 अप्रैल से 15 के बीच कराए गए इस सर्वे में ये बातें प्रमुख रूप से कही गई हैं.

1. सर्वे के दौरान करीब 26 फीसदी लोगों का कहना था कि वे अपने पार्टनर द्वारा उपेक्षित महसूस करते हैं. इस बात पर उन दोनों के बीच लड़ाई भी होती है. वहीं फेसबुक पर उन्हें ज्यादा तवज्जो और अपनापन मिलता है.

2. सर्वे में करीब 44 फीसदी लोगों ने कहा है कि फेसबुक ने उनकी रोमांटिक लाइफ को बर्बाद कर दिया है. कई बार उनका पार्टनर उनके साथ क्वालिटी टाइम बिताने के बजाय फेसबुक पर स्टेटस अपडेट करना पसंद करता है.

3. 47 फीसदी का मानना है कि वे फेसबुक चीटिंग का शिकार हुए हैं

4. 67 फीसदी लोगों ने ये माना कि एक्स्ट्रा-मैरिटल अफेयर और ज्यादातर तलाक के लिए फेसबुक ही सबसे अहम कारण है.

5. सर्वे के दौरान करीब 46 फीसदी लोगों ने कहा कि वे ईर्ष्या के चलते घड़ी-घड़ी अपने पार्टनर का फेसबुक चेक करते रहते हैं.

6. करीब 22 फीसदी लोगों का मानना है कि फेसबुक उन्हें ऐसी परिस्थितियां देता है जिससे अफेयर होने के चांसेज बढ़ जाते हैं.

7. करीब 32 फीसदी लोगों ने ये स्वीकार किया कि उनकी सेक्स लाइफ अब पहले की तरह नहीं रह गई है और पार्टनर के बार-बार फेसबुक चेक करने की वजह से उनके बीच का प्यार कम हो गया है.

8. करीब 17 फीसदी लोगों ने माना कि वे फेसबुक के माध्यम से ही अपने एक्स ब्वॉयफ्रेंड से टच में हैं.

रिसर्च के डायरेक्टर टिम रॉलिन्स का कहना है कि फेसबुक दोस्तों को खोजने और उनसे टच में बने रहने का मंच है लेकिन यहां अफेयर में पड़ने की आशंका भी बहुत अधिक होती है. फेसबुक आपके प्यार भरे रिश्तों में खटास भी ला सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें