scorecardresearch
 
रिलेशनशिप

बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...

बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 1/30
आज की तेज रफ्तार जिंदगी में एक ओर तो 'वफा', 'सच्‍चा प्‍यार' और 'उसूल' जैसे शब्‍द विलुप्‍त होते नजर आ रहे हैं, लेकिन दूसरी ओर इनकी प्रासंगिकता पहले से कहीं ज्‍यादा बढ़ गई है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 2/30
अपने जीवनसाथी से उम्रभर 'वफा' करने पर हम खुद तो स्‍वस्‍थ, सबल बनते ही हैं, यह नई पीढ़ी के लिए भी 'आदर्श' का काम करती है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 3/30
यह अलग बात है कि आज के दौर में विवाहेतर संबंधों के मामलों में इजाफा हो रहा है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 4/30
बात तो यहां तक पहुंच चुकी है कि लोग इसे आधुनिक जीवनशैली की उपज मानकर इसे ज्‍यादा असहजता से नहीं लेते.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 5/30
फिर भी पुराने सिद्धांतों की अहमियत पहले की तरह बरकरार है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 6/30
वैसे एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि ‘जैसा बाप, वैसा बेटा’ की तर्ज पर अभिभावकों के रिश्ते में पिता के वफादार न होने पर पुत्र के भी अपनी पत्नी के साथ धोखा करने की आशंका बढ़ जाती है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 7/30
रिपोर्ट के मुताबिक प्राग में चार्ल्स विश्वविद्यालय के एक दल द्वारा इस बारे में शोध किया गया.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 8/30
अध्ययन में यह बात सामने आई कि 'धोखेबाजी' परिवार दर परिवार आगे बढ़ती है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 9/30
शोधकर्ताओं का मानना है कि कम से कम पुरुषों के मामले में तो ऐसा होने की आशंका अधिक होती है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 10/30
अध्ययन के अनुसार महिला और पुरुष दोनों के ही विवाहेतर प्रेम-प्रसंग हो सकते हैं.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 11/30
स्थिति तब विकट हो जाती है, जब बेटे की बढ़ती उम्र में भी पिता खुद को वफादार न रख सके.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 12/30
ऐसी हालत में पुत्र के भी धोखेबाज होने की आशंका बढ़ जाती है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 13/30
रिसर्च में यह पाया गया कि लड़की के मामले में मां के वफादार न होने पर ऐसी स्थिति नहीं बनती.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 14/30
यानी लड़की की मां अगर बेवफा हो जाए, तो वह अपनी मां के नक्‍शेकदम का अनुसरण करे, इसकी आशंका कम ही है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 15/30
शोध में कहा गया है कि लड़के अपने आसपास की दुनिया को देखते हुए बड़े होते हैं और उनके पिता अच्छे या बुरे सभी मामलों में उनके आदर्श होते हैं.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 16/30
शोध के दौरान अध्‍ययनकर्ताओं ने व्यक्तिगत तौर पर कई सवाल पूछें.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 17/30
इसमें रिश्ते में एक-दूसरे के प्रति विश्वास, यौन-संबंधों को लेकर उनके विचार, उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि और वफादारी के बारे में जानकारी ली गई.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 18/30
अध्ययन के अनुसार महिलाओं के मुकाबले पुरुषों के संबंध सेक्स से ज्यादा प्रेरित होते हैं.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 19/30
पाया गया कि पुरुष के भटकाव पर इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता ‍कि वह अपने संबंधों (मुख्य रिश्ते) में खुश और संतुष्ट है या नहीं.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 20/30
पुरुष आम तौर पर प्रेम प्रसंगों में शामिल होते हैं.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 21/30
पुरुष ऐसा इसलिए करते हैं, क्योंकि वे सेक्स और इसमें साथी के तौर पर कई महिलाओं का साथ चाहते हैं.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 22/30
हार्वर्ड में हुए एक नए शोध के मुताबिक स्कूल के दिनों में सहयोगियों पर धौंस जमाने वाले बच्चे बड़े होने पर अपनी पत्नी या प्रेमिका पर शारीरिक अत्याचार कर सकते हैं.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 23/30
सर्वे में अपनी पत्नी पर शारीरिक अत्याचार करने वाले लोगों में से 38 प्रतिशत ने माना कि वे अपने बचपन में सहयोगियों पर खूब धौंस जमाते थे.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 24/30
शोध के सह लेखक और ‘हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ’ में एसोसिएट प्रोफेसर जे सिल्वरमैन का कहना है कि धौंस जमाने और घरेलू हिंसा को ‘अधिकार’ के साथ जोड़ा जा सकता है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 25/30
सिल्वरमैन का कहना है, ‘‘इसका मतलब यह है कि वे महिला हैं और आप पुरुष हैं, इसलिए आपको ऐसा करने का पूरा अधिकार है.’’
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 26/30
शोधकर्ताओं ने इसके लिए 18 से 35 वर्ष तक उम्र के 1,491 पुरुषों का सर्वे किया.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 27/30
इन सारे तथ्‍यों को देखने के बाद यह स्‍पष्‍ट हो जाता है कि अच्‍छी आदतें अच्‍छा फल देने वाली साबित होती हैं.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 28/30
कहावत भी है कि जैसा बोओगे, वैसा काटोगे. इसे ध्‍यान में रखना बहुत जरूरी है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 29/30
प्‍यार में पूरा समर्पण हो, तो जिंदगी खुशहाल हो जाती है.
बनिए वफादार, न कि 'बेवफा सनम'...
  • 30/30
सेक्‍स सिर्फ इंसान के लिए ही नहीं, हर प्राणी के लिए जरूरी है, पर पूरे संयम के साथ...