scorecardresearch
 

Legs Numbness: आपके पैर भी हो जाते हैं सुन्न? इन गंभीर बीमारी का हो सकता है संकेत!

बहुत से लोगों को पैर में सुन्न (legs and feet numb) होने की समस्या का सामना करना पड़ता है जो किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है. पैर सुन्न होने के कारण क्या हैं और उसका इलाज क्या है? इस बारे में आर्टिकल में जानेंगे.

X
(Image credit: Getty images) (Image credit: Getty images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पैर सुन्न होना आम बात है
  • कई मामलों में ये गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है
  • लक्षण दिखने पर डॉक्टर को दिखाएं

Legs Numbness: कई बार लगातार बैठे रहने से पैर सुन्न हो जाते हैं. पैर सुन्न होने पर ऐसा महसूस होता है जैसे कोई पैर में पिन या सुई चुभो रहा हो. कई बार लोगों को पैर में सुन्नता के साथ दर्द भी हो सकता है. पैर सुन्न होने के कई कारण हो सकते हैं लेकिन सबसे कॉमन कारण एक ही स्थिति में बैठने के कारण ब्लड फ्लो का काम होना या फिर नसों पर अधिक प्रेशर पड़ना होता है. अगर किसी के पैर लंबे समय तक सुन्न रहते हैं तो वह गंभीर बीमारियों का संकेत हो सकता है.

पैर सुन्न होने पर सेंसेशन घुटने के नीचे या पैर के अलग-अलग हिस्सों में महसूस होती है. इसलिए पैर सुन्न होने के कारण जानना काफी जरूरी हो जाता है ताकि आगे चलकर किसी गंभीर बीमारी का खतरा ना रहे. 

पैर सुन्न होने के कारण (Causes of numbness in legs)

अगर कोई लंबे समय पैरों सुन्नता और झुनझुनी (Numbness or a tingling) महसूस करती है तो वह सेंट्रल नर्वस सिस्टम को प्रभावित करने वाली स्थिति मल्टीपल स्केलेरोसिस (एमएस), डायबिटीज, धमनी रोग या फाइब्रोमायल्गिया जैसी स्थितियों के कारण भी हो सकता है. लेकिन इसके लिए डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

इसके अलावा पैर सुन्न होने के कुछ कॉमन कारण भी हैं, जिन्हें जान लेना चाहिए.

1.पोश्चर (Posture)

अगर कोई लंबे समय तक गलत पोश्चर से बैठता है तो उसकी लोअर बॉडी सुन्न हो सकती है. कई लोगों को इस सुन्नता के कारण नींद भी नहीं आती, जिसे मेडिकल की भाषा में पैरेस्थेसिया (Paresthesia) कहा जाता है. कुछ कॉमन आदतें जो पैरों के सुन्न होने का कारण बनती हैं, वो हैं: 

- बहुत देर तक पैरों को क्रास करके बैठना
- लंबे समय तक बैठना
- पैरों पर बैठना
- तंग जूते, पैंट, मोजे पहनना
- चोट

2. डायबिटीज (Diabetes)

डायबिटीज वाले लोगों में एक तरह की नर्व डैमेज हो जाती है, जिसे डायबिटीज न्यूरोपैथी कहा जाता है. डायबिटीज न्यूरोपैथी पैरों में सुन्नता, झुनझुनी और दर्द का कारण बन सकती है.

3. लोअर बैक समस्या या साइटिका (sciatica)

पीठ के निचले हिस्से में समस्याएं जैसे कि रीढ़ की हड्डी के टूटने से नसें सिकुड़ जाती हैं, इसके कारण भी पैर सुन्न हो सकते हैं. वहीं साइटिका में साइटिक नस होती है जो कूल्हे से लेकर पैर के पिछले हिस्से से होते हुए एड़ी तक जाती है, उसके दर्द के कारण भी पैर सुन्न हो जाते हैं.

4. टार्सल टनल सिंड्रोम (Tarsal tunnel syndrome)

टार्सल टनल सिंड्रोम तब होता है, जब पैर के पीछे से टखने के अंदर जाने वाली नस सिकुड़ जाती है. टार्सल टनल, टखने के अंदर की तरफ एक संकरी जगह होती है और इसमें टखनों, एड़ी और पैर में सुन्नता, जलन, झुनझुनी महसूस होती है.

5. पैरिफेरल धमनी रोग (Peripheral artery disease)

पैरिफेरल धमनी रोग (पीएडी)  पैर, हाथ और पेट में ब्लड आर्टरीज के सिकुड़ने के कारण होता है. इससे खून की मात्रा कम हो जाती है और ब्लड फ्लो भी कम हो जाता है और पैर सुन्न हो जाते हैं.

6. स्ट्रोक और मिनी स्ट्रोक (Stokes and mini-strokes)

स्ट्रोक और मिनी स्ट्रोक ब्रेन डैमेज का कारण बन सकता है. स्ट्रोक या मिनी स्ट्रोक कभी-कभी शरीर के कुछ हिस्सों में अस्थायी या लंबे समय तक होने वाली सुन्नता का कारण बन सकता है.

7. शराब का सेवन (Alcohol use)

शराब में मौजूद टॉक्सिन्स से पैरों की नर्व डैमेज का कारण बन सकते हैं. लंबे समय तक अत्यधिक शराब के सेवन से नर्व डैमेज हो सकती है, जिससे पैर सुन्न हो सकते हैं.

पैर में सुन्नता का इलाज (Treatment of numb legs)

अगर पैरों में सुन्नता कुछ समय के लिए होती है तो उसे कुछ घरेलू इलाज भी कर सकते हैं. जैसे, आराम करना, बर्फ लगाना, हीट देना, एक्सरसाइज करना, नमक के पानी में पैर भिगोकर रखना, मसाज करना आदि. लेकिन अगर पैर बार-बार सुन्न होते हैं और लंबे समय तक रहते हैं तो डॉक्टर से संपर्क करें. अगर किसी बीमारी का संकेत दिखता है तो समय रहते इलाज हो पाएगा.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें