scorecardresearch
 

Covid -19: लक्षण नहीं दिख रहे इसके बावजूद कहीं आप से तो नहीं फैल रहा कोरोना? ऐसे करें पता

दुनिया भर में कोरोना वायरस के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ने लगे हैं. ऐसे में कुछ लोगों में कोरोना के काफी गंभीर लक्षण दिखते हैं जबकि कुछ लोगों में इसके लक्षण काफी माइल्ड हैं, वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जिनमें कोरोना के कोई भी लक्षण नजर नहीं आते. ऐसे लोग एसिम्प्टमैटिक कोविड कैरियर होते हैं. तो आइए जानते हैं किसे कहा जाता है एसिम्प्टमैटिक कोविड कैरियर और कैसे पता लगाएं आप ये हैं या नहीं.

X
asymptomatic covid carrier (Photo Credit: Getty Images) asymptomatic covid carrier (Photo Credit: Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बिना लक्षण के भी फैलता है कोरोना
  • एसिम्प्टमैटिक लोगों से संक्रमण का खतरा
  • ऐसे करें एसिम्प्टमैटिक का पता

Covid -19: दुनिया भर कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए कोरोना वायरस की चौथी लहर की आशंका जताई जा रही है. एक्सपर्ट का कहना है कि आने वाले 10 से 15 दिनों में भारत में भी कोरोना के मामले पीक पर होंगे.कोरोना वायरस हर किसी को अलग-अलग तरह से प्रभावित करता है. कुछ लोगों को इस वायरस के कारण गंभीर इंफेक्शन का सामना करना पड़ता है. जबकि कुछ लोगों में इस वायरस के हल्के लक्षण ही नजर आते हैं.

कुछ लोग पूरी तरह से एसिम्प्टमैटिक (बिना लक्षण वाले) भी हो सकते हैं. एसिम्प्टमैटिक लोगों के शरीर में भले ही इस वायरस के कोई लक्षण नजर नहीं आते, लेकिन वह दूसरों को आसानी से संक्रमित कर सकते हैं. इसलिए बहुत से लोग यह जानना चाहते हैं कि आखिर कैसे पता लगाया जाए कि कोई व्यक्ति एसिम्प्टमैटिक कोविड कैरियर है या नहीं. 

इन लोगों के एसिम्प्टमैटिक होने की संभावना ज्यादा- कुछ लोगों में कई कारणों के चलते कोरोना के कोई लक्षण नजर नहीं आते. उदाहरण के लिए, नौजवानों में बुजुर्गों के मुकाबले कोई गंभीर लक्षण नजर नहीं आते. शायद ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि नौजवानों की इम्यूनिटी बुजुर्गों की तुलना में स्ट्रॉन्ग होती है. 

ड्यूक यूनिवर्सिटी की एक स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ है कि खासतौर पर 6 से 13 साल तक के बच्चे एसिम्प्टमैटिक होते हैं क्योंकि उन्हें सांस संबंधित वायरल बीमारियां ज्यादा होती हैं. हालांकि जब इस उम्र के बच्चों को कोरोना होता है तो वह कम खतरनाक होता है. इसके अलावा बीमारी की गंभीरता का स्तर किसी व्यक्ति में उसके वैक्सीनेशन स्टेटस और पुराने इंफेक्शन से बनी इम्यूनिटी पर निर्भर करता है. 

कैसे पता करें कि आप एसिम्प्टमैटिक हैं या नहीं- एसिम्प्टमैटिक हैं या नहीं ये जानने का सबसे बेहतर तरीका RT-PCR और रैपिड एंटीजन टेस्ट करवाना है. कोरोना के संपर्क में आने के बावजूद भी अगर आपके शरीर में कोई लक्षण नजर नहीं आते तो भी आपको अपना टेस्ट जरूर कराना चाहिए. साथ ही यह भी बेहद जरूरी है कि आप खुद को आइसोलेट कर लें. 

कोरोना के आम लक्षण- कोरोना के आम लक्षण सर्दी और फ्लू से मिलते-जुलते हैं, साथ ही इसमें बुखार, सिरदर्द, सूंघने की क्षमता कम होना, गले में खराश, बहती नाक जैसे लक्षण शामिल हैं. इसके अलावा लोगों को बॉडी पेन, स्किन रैशेज, आंखों में जलन और रेडनेस, चेस्ट पेन, सांस लेने में दिक्कत जैसे लक्षण भी महसूस हो रहे हैं. हाल ही में जो लोग ओमिक्रॉन BA.2  से संक्रमित हुए हैं उनमें पेट से जुड़े सिंड्रोम जैसे मितली, डायरिया, उल्टी, पेट में दर्द, सीने में जलन और पेट फूलने जैसे लक्षण भी नजर आ रहे हैं. 

इन चीजों का रखें ध्यान- आपमें कोरोना के लक्षण नजर आएं या नहीं लेकिन आपको सतर्क रहना बेहद जरूरी है. यदि आप एसिम्प्टमैटिक हैं,  तो भी आप दूसरों को संक्रमित कर सकते हैं. इसलिए मास्क लगाएं, COVID स्वच्छता नियमों का पालन करें और वैक्सीन की दोनों डोज जरूर लगवाएं. 

 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें