scorecardresearch
 
लाइफस्टाइल न्यूज़

Corona: कोविड-19 के इलाज में बेअसर एजिथ्रोमाइसिन, घातक साइड इफेक्ट की ओर एक्सपर्ट का इशारा

कोविड-19 के इलाज में बेअसर एजिथ्रोमाइसिन
  • 1/10

एजिथ्रोमाइसिन एक वक्त कोविड-19 के इलाज में इस्तेमाल होने वाली सबसे कॉमन दवा थी. हालांकि कोरोना मरीजों दी जाने वाली ये एंटीबायोटिक दवा अब इस जानलेवा संक्रमण के खिलाफ कारगर नहीं रह गई है. एक नई स्टडी के मुताबिक, यह दवा कोरोना मरीजों के इलाज की बजाय किसी प्लेसिबो की तरह काम करती है.

एजिथ्रोमाइसिन और कोविड-19
  • 2/10

एजिथ्रोमाइसिन और कोविड-19- एजिथ्रोमाइसिन एक व्यापक स्पेक्ट्रम एंटीबायोटिक है जो व्यापक रूप से उपलब्ध है. ये कई प्रकार के बैक्टीरियल इंफेक्शन के लिए दी जाती है. शुरुआत में इस दवा का इस्तेमाल कोविड-19 के इलाज में किया जा रहा था, जिसमें से भारत भी शामिल था. मेडिकल एक्सपर्ट का दावा है कि पिछले साल की तुलना में इस दवा का इस्तेमाल काफी कम हुआ है. इसे 'नेशनल स्टेट गाइडलाइन्स फॉर ट्रीटमेंट ऑफ कोविड-19' से भी बाहर कर दिया गया है.

Photo: Getty Images

कोविड-19 के इलाज में बेअसर एजिथ्रोमाइसिन
  • 3/10

यह स्टडी पिछले सप्ताह ही 'जर्नल ऑफ द अमेरिकन एसोसिशन' में प्रकाशित हुई है. इस स्टडी में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफॉर्निया, सैन फ्रांसिस्को और स्टैनफॉर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने 263 वॉलंटियर्स का शामिल किया था. इनमें 171 वॉलंटियर्स को एजिथ्रोमाइसिन का सिंगल ओरल डोज दिया गया, जबकि अन्य 92 को मैचिंग प्लेसिबो मिला. एजिथ्रोमाइसिन बनाम मैचिंग प्लेसिबो का ये रैंडमाइज्ड क्लीनिकल ट्रायल मई 2020 से लेकर मार्च 2021 तक के आंकड़ों पर आधारित है.

कोविड-19 के इलाज में बेअसर एजिथ्रोमाइसिन
  • 4/10

स्टडी की लेखक कैथरीन ओल्डनबर्ग के मुताबिक, प्लेसिबो की तुलना में एजिथ्रोमाइसिन की सिंगल डोज के साथ 14 दिन में लक्षणों से मुक्त होने की संभावना अधिक नहीं है. एक्सपर्ट ने यह भी कहा कि स्टडी के आंकड़े SARS-CoV2 इंफेक्शन से निपटने के लिए एजिथ्रोमाइसिन के इस्तेमाल को सपोर्ट नहीं करते हैं.

Photo: Getty Images

कोविड-19 के इलाज में बेअसर एजिथ्रोमाइसिन
  • 5/10

भारत और एजिथ्रोमाइसिन- महामारी के शुरुआती दौर में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने अपने ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल में ये बताया था कि कोई भी विशिष्ट दवा कोविड-19 के खिलाफ प्रभावी साबित नहीं हुई है. इसलिए गंभीर रूप से बीमार और आईसीयू मैनेजमेंट की जरूरत वाले रोगियों के लिए हाइड्रोक्लोरोक्वीन और एजिथ्रोमाइसिन के कॉम्बिनेशन को अनुमति दी गई थी.

Photo: Getty Images

कोविड-19 के इलाज में बेअसर एजिथ्रोमाइसिन
  • 6/10

कुछ राज्य के स्वास्थ्य विभागों ने तीन महीने पहले जारी हुई अपनी गाइडलाइंस में एजिथ्रोमाइसिन को एक दवा के रूप में शामिल किया है, जिसे होम आइसोलेशन वाले रोगियों को दिया जा सकता है. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा इस साल मई में जारी किए कोविड-19 के क्लीनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल में इस दवा को शामिल नहीं किया गया है.

Photo: Getty Images

कोविड-19 के इलाज में बेअसर एजिथ्रोमाइसिन
  • 7/10

अप्रैल में एक वर्चुअल मीडिया ब्रीफिंग में नई दिल्ली स्थि एम्स के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने भी कहा था कि डेटा हाइड्रोक्लोरोक्वीन और एजिथ्रोमाइसिन के कॉम्बिनेशन को सपोर्ट नहीं करता है. इसे कई गाइडलांस में शामिल भी नहीं किया गया है.

Photo: Getty Images

कोविड-19 के इलाज में बेअसर एजिथ्रोमाइसिन
  • 8/10

डॉ. गुलेरिया ने अपने बयान में कहा था, 'इस बात के कोई साक्ष्य मौजूद नहीं कि एजिथ्रोमाइसिन कोविड-19 के इलाज में फायदेमंद है. हालांकि कुछ लोगों में हाइड्रोक्लोरोक्वीन के फायदे देखे गए हैं और इस दवा के कोई साइड इफेक्ट भी सामने नहीं आए हैं.'

Photo: Getty Images

कोविड-19 के इलाज में बेअसर एजिथ्रोमाइसिन
  • 9/10

डॉ. गुलेरिया ने यह भी कहा था कि महामारी के दौरान एजिथ्रोमाइसिन का इस्तेमाल एक एंटीबायोटिक दवा की बजाय इम्यून बढ़ाने वाली दवा के रूप में किया जा रहा था. देशभर में कई जगहों पर इन दोनों दवाओं का इस्तेमाल किया गया है. क्लीनिकल रिसर्च ऑफ कोविड-19 की नेशनल टासस्क फोर्स के सदस्य डॉक्टर संजय पुजारी ने कहा कि एजिथ्रोमाइसिन मल्टीपल रैंडमाइज्ड कंट्रोल ट्रायल्स में प्रभावशाली नहीं पाई गई है. उन्होंने बताया कि अस्पतालों में इस दवा का इस्तेमाल कम हो सकता है.

Photo: Getty Images

कोविड-19 के इलाज में बेअसर एजिथ्रोमाइसिन
  • 10/10

वहीं, कोविड टास्क फोर्स (पुणे डिवीजन) से जुड़े डॉ. डीबी कदम ने कहा कि पिछले साल एजिथ्रोमाइसिन का इस्तेमाल एंटीबायोटिक एंटी वायरस ड्रग के रूप में किया जा रहा था. लेकिन कोर्डिएक अरेस्ट जैसे साइड इफेक्ट को देखते हुए इस दवा का प्रयोग बंद कर दिया गया. इस साल यह दवा किसी भी गाइडलाइंस का हिस्सा नहीं है.

Photo: Getty Images