scorecardresearch
 

कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स महिलाओं के लिए बन रहे हैं खतरे की घंटी

अगर आप भी कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का अधिक इस्तेमाल करती हैं तो ये आपके लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

महिलाओं को अगर कोई चीज सबसे ज्यादा प्यारी होती है तो वे है कॉस्मेटिक. जी हां, आधुनिक जीवन में हर कोई सबसे बेस्ट दिखना चाहता है, खूबसूरत दिखने के लिए महिलाएं कई तरह के कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स को इस्तेमाल करती हैं.

अगर आप भी कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का अधिक इस्तेमाल करती हैं तो संभल जाएं. आपको जानकर हैरानी होगी आपके कॉस्मेटिक प्रोडक्ट भी आपको बीमार करने में अहम भूमिका निभाते हैं. इस बात की पुष्टि हाल ही में हुई एक स्टडी में हुई है.

स्टडी की रिपोर्ट में सामने आया है कि कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में मौजूद कैमिकल्स महिलाओं के रिप्रोडक्टिव हार्मोन्स पर बुरा असर डालते हैं. शोधकर्ताओं के मुताबिक, ये पहली ऐसी स्टडी है जिसमें स्वस्थ महिलाओं के हार्मोन्स पर कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से पड़ने वाले बुरे प्रभावों की जांच की गई है.

इस स्टडी में बताया गया है कि अगर कम मात्रा में भी महिलाएं कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करती हैं तो इससे भी महिलाओं के रिप्रोडक्टिव हार्मोन के स्तर पर असर पड़ता है.

शोधकर्ताओं का कहना है कि हमें कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करते समय उसमें मौजूद कैमिकल्स के बारे में जरूर जानकारी रखनी चाहिए. रिपोर्ट की माने तो पैराबेन केमिकल महिलाओं में एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर बढ़ा देता है.

स्टडी की रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि स्किन पर जितना बुरा प्रभाव प्रदूषण से होता है उतनी ही खराब असर कॉस्मेटिक में मौजूद कैमिकल से भी होता है. इसके अलावा कुछ कैमिकल्स ऐसे भी होते हैं जिनसे रिप्रोडक्टिव हार्मोन्स कम होते हैं तो वहीं कुछ से बढ़ते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें