scorecardresearch
 

पेरिस फैशन वीक में इठलाती मॉडल्स के बीच इस लड़की पर क्यों टिक गईं सबकी नजरें

पेरिस फैशन वीक 2021 डिजायनर कपड़ों में मॉडल्स के रैंपवॉक के अलावा एक और घटना की वजह से सुर्खियों में है. दरअसल लूई वीटॉन के लिए रैंप पर कैटवॉक कर रहीं मॉडल्स के बीच अचानक एक सोशल एक्टिविस्ट घुस आई. ये एक्टिविस्ट फैशन इंडस्ट्री की वजह से पर्यावरण को हो रहे नुकसान के खिलाफ आवाज उठा रही थी.

पैरिस फैशन वीक में हुआ बवाल पैरिस फैशन वीक में हुआ बवाल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पेरिस फैशन वीक में बवाल
  • मॉडल्स के बीच घुसी एक्टिविस्ट
  • वायरल हुआ वीडियो

पेरिस फैशन वीक 2021 डिजायनर कपड़ों में मॉडल्स रैंपवॉक कर रही थीं लेकिन सबसे ज्यादा लाइमलाइट चुरा गई एक लड़की. ये लड़की कोई मॉडल भी नहीं थी लेकिन उसने किया ही कुछ ऐसा कि सबकी नजरें मॉडल्स से हटकर उसी पर टिक गईं. दरअसल, मशहूर फैशन ब्रैंड लूई वटॉन के लिए रैंप पर कैटवॉक कर रहीं मॉडल्स के बीच अचानक एक सोशल एक्टिविस्ट घुस आई. इस एक्टिविस्ट के हाथ में एक बड़ा बैनर था जिस पर लिखा था 'ओवर कन्सम्प्शन =  एक्सटिंक्शन'. ये एक्टिविस्ट फैशन इंडस्ट्री की वजह से पर्यावरण को हो रहे नुकसान के खिलाफ आवाज उठा रही थी. 

सोशल एक्टिविस्ट ने जो बैनर लिया था, उसमें क्लाइमेट चेंज के लिए काम करने वाले संगठन एमिस डे ला टेरे का लोगो भी बना था. फैशन वॉक के बीच में शामिल होने वाली ये महिला इस संगठन से जुड़ी हुई है. एमिस डे ला टेरे एक ऐसा संगठन है जो  फ्रांस के पर्यावरण और लोगों की सुरक्षा से जुड़े मुद्दे उठाता है. ये संगठन फैशन इंडस्ट्री से जुड़े खराब पहलुओं को उजागर करता है. 

एक्सटिक्शन रिबेलियन फ्रांस ने इंस्टाग्राम पर भी एक पोस्ट में लिखा, धरती जल रही है लेकिन फैशन की दुनिया का ध्यान किसी और ही तरफ है. एमिस डे ला टेरे फ्रांस की प्रवक्ता आल्मा डूफूर ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से कहा, एलवीएमएच लग्जरी ब्रांड में अग्रणी है और उसकी जिम्मेदारी बनती है कि वे ऐसे ट्रेंड्स को रोकें जिसकी वजह से टेक्सटाइल इंडस्ट्री पर कलेक्शन लगातार अपडेट करने और ज्यादा उत्पादन करने का दबाव बने.

सोशल मीडिया पर इस पेरिस फैशन वीक के इस घटना का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. इसमें देखा जा सकता है कि कैटवॉक कर रहीं मॉडल्स के बीच एक महिला अचानक हाथ में बैनर लिए घुस आई. ये महिला मॉडल्स के बीचोबीच चलती दिखाई दे रही है. हालांकि कुछ मिनटों के अंदर ही सिक्योरिटी गार्ड्स की नजर इस महिला पर पड़ गई और वे तुरंत उसे उठाकर शो से बाहर ले गए.

हालांकि, ये पहली बार नहीं है जब फैशन शो में किसी एक्टिविस्ट के घुसने खलल पड़ा हो. साल 2019 में पर्यावरण एक्टिविस्ट एक्सटिक्शन रिबेलियन ने ब्रिटिश फैशन काउंसिल में लंदन फैशन वीक को बंद करने की अपील कर दी थी. तब भी पर्यावरण जागरुकता फैलाने के मकसद से ही एक्टिविस्ट शो के बीच में आ गए थे.

 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें