scorecardresearch
 

पुलवामा: शादी के 7 साल बाद मन्नतों से औलाद, अब प‍त‍िा को खोज रही आंखें

पुल‍वामा आतंकी हमले के बाद शहीदों के पर‍िजनों की जो कहान‍ियां सामने आ रही हैं, वह क‍िसी को भी रुलाने के ल‍िए काफी हैं. ऐसी ही एक दर्दनाक कहानी पंजाब के तरन तारन शहर में बसने वाले शहीद की है जो कश्मीर में ड्यूटी पर थे. सुखजिंदर सिंह के शहीद होने की खबर जैसे ही इस परिवार में पहुंची पूरे परिवार में मातम छा गया. शहीद सुखजिंदर सिंह के मां-बाप,  दो भाइयों और पत्नी के अलावा एक 8 माह का बेटा भी था. घर के सभी सदस्य सुखजिंदर सिंह पर ही निर्भर थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें