scorecardresearch
 

कुंभ 2019: आस्था का ऐसा दृश्य और कहीं नहीं दिखेगा

कुंभ 2019: आस्था का ऐसा दृश्य और कहीं नहीं दिखेगा

जैसे जैसे सुबह हुई और सूरज की रोशनी फैली, पूरे प्रयागराज में संगम तट पर दिव्यता निखर कर सामने आ गई. सुबह होते ही संगम के तट पर विहंगम दृश्य चारों ओर दिखने लगा. संगम तट पर देश दुनिया के श्रद्धालु जुट गए हैं. श्रद्धालु चाहते हैं कि उनके मन का अंधियारा दूर हो और ईश्वर की रोशनी से अंदर से बाहर तक परिपूर्ण हो जाएं.

Lakhs of devotees, saints and religious leaders of various patrs of country took ritual dip in Kumbh of Prayagraj, marking the beginning of the Kumbh Mela. Kumbh started on Makar Sankranti on Sangam or confluence of the Ganga, Yamuna and Saraswati. Sankranti is the beginning of the festival, is one of the sacred bathing days of the 50-day Kumbh Mela. it is learnt 12 crore devotees are expected to visit the Kumbh. Kumbh Mela will come to close on March 4 after holy dip at the Sangam.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें