scorecardresearch
 

कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा- कोरोना प्रसार रोकने के लिए 10 मई तक अहम फैसला लेगी सरकार

लॉकडाउन को लेकर राज्य कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने एक बड़ा बयान दिया है. सुबोध उनियाल ने कहा है ''कोविड-19 का संक्रमण उत्तराखंड के गांवों में भी पहुंच चुका है. कोरोना कर्फ्यू के बावजूद जिस स्तर पर संक्रमण बढ़ रहा है वो चिंता का विषय है. वायरस के प्रसार पर रोक लगाने के लिए सरकार 10 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला ले सकती है.''

मंत्री सुबोध उनियाल (फाइल फोटो) मंत्री सुबोध उनियाल (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उत्तराखंड के गांवों में पहुंच गया है कोरोना वायरस
  • 10 मई तक सरकार उठा सकती है कोई बड़ा कदम
  • उत्तराखंड सरकार में मंत्री सुबोध उनियाल ने दिया है बयान

देशभर में हर रोज चार लाख से अधिक कोरोना मामले आ रहे हैं. बीते चौबीस घंटे में कोरोना के कारण चार हजार से अधिक लोगों ने कोरोना के कारण अपनी जान गंवा दी. उत्तराखंड भी उससे अछूता नहीं है. बीते चौबीस घंटे में उत्तराखंड में अब तक सबसे अधिक कोरोना मामले सामने आए हैं. पिछले दिन में 9642 नए कोरोना मामले निकले हैं. जिसने शासन और प्रशासन की नींद उड़ा रखी है. उत्तराखंड में लॉकडाउन को लेकर लगातार कयास जताए जा रहे हैं.

इसे लेकर राज्य कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने एक बड़ा बयान दिया है. सुबोध उनियाल ने कहा है ''कोविड-19 का संक्रमण उत्तराखंड के गांवों में भी पहुंच चुका है. कोरोना कर्फ्यू के बावजूद जिस स्तर पर संक्रमण बढ़ रहा है वो चिंता का विषय है. वायरस के प्रसार पर रोक लगाने के लिए सरकार 10 मई तक बढ़ा फैसला ले सकती है.''

राज्य के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार प्रदेश में अभी तक कुल 5,19,720 लोगों को ही कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लग सकी.

आपको बता दें कि उत्तराखंड में पिछले ही महीने महाकुंभ का भी आयोजन किया गया था. इस दौरान देश भर से लाखों श्रद्धालु उत्तराखंड कुंभ स्नान के लिए पहुंचे थे. इसके बाद कुंभ से लगातार कोरोना के मामले दर्ज किए जाने लगे.

प्रधानमंत्री मोदी ने इस पर चिंता जाहिर करते हुए साधु संतों से अपील की कि वे आगे का कुंभ केवल प्रतीकात्मक ही रखें. इसके बाद कई अखाड़ों ने कुंभ के बीच से ही खुद की वापसी कर ली. लेकिन ऐसा लग रहा है कोरोना अपना काम कर चुका है. कई साधुओं और महंतों की मौत की खबर बीते दिनों मिली है. अब सरकार संभवतः लॉकडाउन पर विचार कर रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें