scorecardresearch
 

Corona In Doon School: दून स्कूल के 7 छात्र और 5 टीचर कोरोना संक्रमित, हुए क्वारंटीन

देहरादून के जिलाधिकारी आशीष श्रीवास्तव ने भी इसकी पुष्टि करते हुए बताया, 'दून स्कूल में ये मामला सामने आया आया है, लगातार टेस्टिंग की जा रही है और जो बच्चे व शिक्षक संक्रमित पाए गए हैं उन्हें स्कूल में ही क्वारंटीन कर दिया गया है.'

A group of seven students and five teachers at the reputed Doon School in Dehradun have tested positive for coronavirus. (Doon School) A group of seven students and five teachers at the reputed Doon School in Dehradun have tested positive for coronavirus. (Doon School)

उत्तराखंड में जिस तरह से कोरोना का कहर बढ़ जा रहा है वो अब चिंता का विषय बन गया है. लगातार बढ़ते कोरोना केसे के साथ ही अब शासन-प्रशासन की चिंता भी बढ़ गई है. कोरोना की एंट्री अब यहां के स्कूलों में भी होने लगी है. बच्चे और शिक्षक भी इसकी चपेट में आ रहे हैं. प्रदेश के मशहूर 'दून स्कूल ' में भी 7 स्कूली बच्चे और 5 टीचर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. संक्रमित बच्चे 9वीं क्लास के बताए जा रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक 9वीं क्साल के बाकी बच्चों को उनके घर भेज दिया गया है ताकि संक्रमण को और फैलने से रोका जा सके. देहरादून के जिलाधिकारी आशीष श्रीवास्तव ने भी इसकी पुष्टि करते हुए बताया, 'दून स्कूल में ये मामला सामने आया आया है, लगातार टेस्टिंग की जा रही है और जो बच्चे व शिक्षक संक्रमित पाए गए हैं उन्हें स्कूल में ही क्वारंटीन कर दिया गया है. बाकी हमारी टीम लगातार स्कूल प्रबंधन के संपर्क में है.'

दून स्कूल ने इस पूरे मामले पर कहा, 'राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर, शासन द्वारा जारी निर्देशों के अनुरूप दून स्कूल सभी आवश्यक कदम और सुरक्षात्मक उपायों का अनुपालन सुनिश्चित कर रहा है. स्कूल ने अपने सभी छात्रों, शिक्षकों, कर्मचारियों को महामारी से बचाव के लिए आवासीय डॉक्टर की देख-रेख में महत्त्वपूर्ण कार्य योजना लागू की है. स्कूल ने सभी कर्मचारियों, छात्रों और शिक्षकों की नियमित आरटीपीसीआर जांच सुनिश्चित की है.'

स्कूल ने बताया कि अब तक की जांच में केवल 5 शिक्षक और 7 छात्र जो की पहले से क्वारंटीन थे,  कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं. संक्रमण बढ़े या फैले नहीं इसके लिए स्कूल ने प्रभावित लोगों को क्वॉरन्टीन कर दिया है. साथ ही कान्टैक्ट ट्रेसिंग की त्वरित प्रक्रिया के माध्यम से उपचार के सभी तरीकों का कठोरतापूर्वक अनुपालन करने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. इन पर स्कूल के डॉक्टर, प्रशासन, प्रभारी वरिष्ठ प्रबंधकों द्वारा लगातार निगरानी रखी जा रही है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें