scorecardresearch
 

हरिद्वार कुंभ में कोरोना का प्रकोप, निर्वाणी अखाड़ा के महामंडलेश्वर कपिल देव की मौत

हाल ही में महामंडलेश्वर के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उन्हें देहरादून के कैलाश हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था. जहां उनका निधन हो गया.

हरिद्वार में महाकुंभ (फाइल फोटो) हरिद्वार में महाकुंभ (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मध्य प्रदेश से हरिद्वार आए थे महामंडलेश्वर कपिल देव
  • देहरादून के कैलाश हॉस्पिटल में इलाज के दौरान हुआ निधन

हरिद्वार के कुंभ मेले में मध्य प्रदेश से आए निर्वाणी अखाड़ा के महामंडलेश्वर कपिल देव की कोरोना से मौत हो गई है. जानकारी के मुताबिक हाल ही में महामंडलेश्वर के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उन्हें देहरादून के कैलाश हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था. जहां  मिली जानकारी के अनुसार 13 अप्रैल को उनका निधन हो गया. बताया जा रहा है कि महाकुंभ मेले के दौरान होने वाली यह किसी संत की पहली मौत है. 

हरिद्वार में कोरोना गाइडलाइंस के घोर उल्लंघन का असर अब दिखने लगा है. पिछले 72 घंटे में अकेले 1,500 से भी ज्यादा पॉजिटिव केस सिर्फ हरिद्वार के मेला क्षेत्र से ही सामने आए हैं और कई लोगों की जान गई है. कोरोना मरीजों की संख्या अभी और बढ़ने की उम्मीद है क्योंकि बड़ी संख्या में कोरोना रिपोर्ट आना बाकी है. 

कुंभ मेले की अवधि को घटाने से इनकार
बता दें कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच उत्तराखंड सरकार ने हरिद्वार कुंभ मेले की अवधि को घटाने से इनकार कर दिया है. सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया कि मेला अवधि घटाने पर अभी कोई विचार नहीं है, न ही ऐसा कोई प्रस्ताव राज्य सरकार ने केंद्र को भेजा है, कुंभ 30 अप्रैल अपनी समय सीमा पर ही समाप्त होगा.

हरिद्वार में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. तीसरे शाही स्नान के दौरान भी कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ाई गईं. अधिकतर लोग बिना मास्क के दिखाई दिए, जबकि पूरे हरिद्वार में कहीं भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करता हुआ कोई नहीं दिखाई दिया. इस वजह से हरिद्वार में कोरोना विस्फोट हुआ है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें