scorecardresearch
 

स्ट‍िंग: न‍िलंब‍ित इंस्पेक्टर ने कबूली हाथरस मामले में पुल‍िस की लापरवाही

स्ट‍िंग: न‍िलंब‍ित इंस्पेक्टर ने कबूली हाथरस मामले में पुल‍िस की लापरवाही

हाथरस कांड अपनी घटना के चार हफ्ते बाद भी अपना जवाब अपना इंसाफ मांग रहा है. अब जांच सीबीआई के हाथों में है. इस बीच इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पीड़िता के परिवार को बुलाया और उनके सामने ही पुलिस को उनके एक्शन पर फटकार लगाई. आखिर 14 सितंबर को क्या थी पुलिस की भूमिका? हाथरस की पीड़िता के मामले में उस दिन पुलिस ने कैसे लापरवाही दिखाई? इस सच को हमारे अंडरकवर रिपोर्टरों ने बेनकाब किया है. हमारे इस सुपर एक्सक्लूसिव स्टिंग ऑपरेशन में हाथरस कांड में सस्पेंड हुए पुलिस इंस्पेक्टर दिनेश वर्मा बता रहे हैं कि लहूलुहान पीड़िता के मामले में कैसी घोर लापरवाही उन लोगों ने की.

As anger grew over the alleged gang-rape and hurried late-night cremation of a 19-year-old Dalit victim, an India Today investigation has secured confessions about glaring lapses in police response when the case unfolded. Dinesh Kumar Verma, then inspector of the Chandpa police station under whose jurisdiction the alleged attack took place on September 14, is caught on camera confessing that he neither visited the victim nor provided her with immediate medical care.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें