scorecardresearch
 

Gyanvapi Masjid survey: क्या है ज्ञानवापी मस्जिद विवाद, किस तरह इसे सुलझाना चाहता है कोर्ट, समझिए

Gyanvapi Masjid survey: क्या है ज्ञानवापी मस्जिद विवाद, किस तरह इसे सुलझाना चाहता है कोर्ट, समझिए

दुनिया के सबसे प्राचीन शहरों में शामिल काशी अपनी अनूठी संस्कृति के लिए जानी जाती है. यहां जाति धर्म से ऊपर हैं बाबा विश्वनाथ. बाबा के आशीर्वाद से ही इस शहर का रस हमेशा बना रहता है. शायद इसीलिए इसे बनारस कहते हैं. लेकिन जहां बाबा विश्वनाथ विराजमान हैं, उसके बिल्कुल पास, उसी परिसर में ज्ञानवापी मस्जिद भी मौजूद है. अयोध्या का विवाद सुलझने के बाद उम्मीद लगाई जा रही है कि, कोर्ट से काशी का समाधान भी निकलेगा. ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर हिंदू पक्ष का दावा है कि, इस विवादित ढांचे के नीचे ज्योतिर्लिंग है. हिंदू पक्ष के दावे के मुताबिक, ढांचे की दीवारों पर देवी देवताओं के चित्र भी प्रदर्शित हैं. काशी विश्वनाथ मंदिर को औरंगजेब ने 1664 में नष्ट कर दिया था. फिर इसके अवशेषों से मस्जिद बनवाई, जिसे मंदिर की जमीन के एक हिस्से पर ज्ञानवापी मस्जिद के रूप में जाना जाता है. तो क्या है पूरा मामला जानिए.

Kashi, one of the oldest cities in the world, is known for its unique culture. Here Baba Vishwanath is above caste and religion. It is only with the blessings of Baba that the juice of this city remains forever. But the Gyanvapi Masjid is also present in the same premises, just near where Baba Vishwanath is seated.The Hindu side claims about the Gyanvapi mosque that there is a Jyotirlinga under this disputed structure. So what is it, know the whole matter.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें