scorecardresearch
 

'ब्राह्मण समाज वापस आना चाहता है', देखें UP में दोबारा कैसे सोशल इंजीनियरिंग में जुटी BSP

'ब्राह्मण समाज वापस आना चाहता है', देखें UP में दोबारा कैसे सोशल इंजीनियरिंग में जुटी BSP

2007 में यूपी की सियासत में नारा उछाला गया था कि ब्राह्मण शंख बजाएगा, हाथी चलता जाएगा. लगता है इस बार फिर से ये नारा लौट रहा है. करीब 9 साल से यूपी की सत्ता से बाहर रही मायावती फिर उसी अंदाज में चुनावी मैदान में उतरने को तैयार हैं और फिर ब्राह्मण वोटरों को लुभाकर विजय का प्लान बना रही हैं. आज से बीएसपी का ब्राह्मण सम्मेलन शुरू हो गया है. यूपी विधानसभा चुनाव में ब्राह्मण मतदाताओं को लुभाने के लिए मायावती ने एक बार फिर सोशल इंजीनियरिंग का दांव चला है. अयोध्या में हनुमानगढ़ी मंदिर में बीएसपी नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने पूजा पाठ के बाद वादा किया कि अगर बीएसपी की सरकार बनी तो राम का भव्य मंदिर बनाया जाएगा. पहले चरण में 23 से 29 जुलाई तक यूपी के 6 जिलों में ब्राह्मण सम्मेलन किए जाएंगे. इस Video में देखें यूपी में दोबारा कैसे सोशल इंजीनियरिंग में जुटी बीएसपी.

In order to woo the upper caste Brahmin community ahead of the Uttar Pradesh assembly elections 2022, the Bahujan Samaj Party (BSP) on Friday virtually kicked off its ‘Brahmin Sammelan’ from Ayodhya. The BSP's campaign was launched under the leadership of party general secretary Satish Chandra Misra. Watch the video to know how BSP is unfolding its 'Brahmin' strategy to come to power in UP.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें