scorecardresearch
 

'हत्या से प्रदर्शनकारियों को चुप नहीं कर सकते', वरुण गांधी ने शेयर किया लखीमपुर हिंसा का नया वीडियो

Lakhimpur Kheri Incident: वरुण गांधी ने लखीमपुर कांड पर ट्वीट किया है. इसमें उन्होंने घटना का ताजा वीडियो शेयर करते हुए न्याय की मांग की है.

लखीमपुर खीरी में चार किसानों सहित आठ की मौत हुई थी लखीमपुर खीरी में चार किसानों सहित आठ की मौत हुई थी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • वरुण गांधी ने लखीमपुर हिंसा का नया वीडियो शेयर किया है
  • वरुण ने कहा कि हत्या से प्रदर्शनकारियों को चुप नहीं कर सकते

बीजेपी के सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) किसानों के मसले पर लगातार आवाज उठा रहे हैं. लखीमपुर मसले पर पहले भी ट्वीट कर चुके वरुण गांधी ने अब वीडियो ट्वीट कर न्याय की गुहार लगाई है. यह लखीमपुर की घटना का ताजा वीडियो है जो कि बुधवार रात सामने आया था. इसमें तेज रफ्तार थार गाड़ी किसानों को कुचलती साफ दिखाई दे रही है.

लखीमपुर हिंसा के नए वीडियो को वरुण गांधी ने भी शेयर किया है. उन्होंने लिखा, 'यह वीडियो बिल्कुल साफ है. प्रदर्शनकारियों का मर्डर करके उनको चुप नहीं कराया जा सकता. निर्दोष किसानों के बिखरे खून की जवाबदेही होनी चाहिए. सभी किसानों के अंदर अहंकार और क्रूरता का संदेश जाए इससे पहले न्याय होना चाहिए.'

जो वीडियो वरुण गांधी (पीलीभीत से बीजेपी सांसद) ने शेयर किया है वह बुधवार को सामने आया. यह वीडियो उस वक्त का ही है जब थार गाड़ी ने किसानों को कुचला. इस वीडियो का कुछ हिस्सा पहले भी सामने आया था, जिसको लेकर विपक्षी दलों ने सरकार को निशाने पर लिया था. ताजा वीडियो पहले के मुकाबले ज्यादा लंबा और साफ है. इसमें दिख रहा है कि किस तरह कार तेजी से आई और किसानों को कुचलते हुए आगे बढ़ गई. लेकिन फिर कार खुद भी आगे जाकर रुक गई, जिसके पीछे लाठी-डंडे लेकर प्रदर्शनकारी किसान भागते दिखते हैं.

वरुण गांधी ने सीएम योगी को पत्र भी लिखा था

लखीमपुर मसले पर वरुण गांधी ने इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र भी लिखा था. पत्र में सीबीआई जांच की मांग और पीड़ित परिवारों को एक-एक करोड़ का मुआवजा देने की मांग की गई थी. 

पार्टी लाइन से अलग जाकर किसानों के समर्थन में वरुण गांधी पहले भी आवाज उठाते रहे हैं. वरुण ने पिछले महीने सीएम योगी से गुहार लगाई थी कि वह किसानों की विभिन्न समस्याओं को दूर करें. इसमें गन्ने की कीमत, पीएम किसान योजना की राशि दोगुनी करने की मांग की गई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें