scorecardresearch
 

मिड डे मील: UP में 1 लीटर दूध में 1 बाल्टी पानी मिलाकर बच्चों को पिलाया

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र के सलईबनवा प्राथमिक स्कूल में एक बाल्टी पानी में एक लीटर दूध मिलाकर बच्चों को पिला दिया गया. जब मिड डे मील का यह वीडियो सामने आया, तो शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया.

पानी में दूध मिलाती रसोइया पानी में दूध मिलाती रसोइया

  • एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाने का वीडियो आया सामने
  • सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद शिक्षा विभाग में हड़कंप
उत्तर प्रदेश के सोनभद्र के चोपन ब्लाक स्थित सलईबनवा प्राथमिक स्कूल में मिर्जापुर की तरह ही मिड डे मील में अनियमितता का मामला सामने आया है. बुधवार को बच्चों को मेन्यू के मुताबिक दूध देते समय एक लीटर दूध में एक बाल्टी पानी मिलाया गया और उसे 80 बच्चों को बांटा गया. दूध में पानी मिलाने का वीडियो भी सामने आया है, जिससे शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया है.

जब इसकी सूचना अधिकारियों तक पहुंची तो बच्चों को दोबारा दूध बांटा गया. इसके बाद गुरुवार को एबीएसए ने प्राथमिक स्कूल सलईबनवा पहुंचकर आरोपी शिक्षामित्र को हटा दिया. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में देखा जा सकता है कि सोनभद्र के चोपन ब्लाक के सलईबनवा प्राथमिक स्कूल में बुधवार को मिड डे मील के मेन्यू के अनुसार दूध देते समय एक बाल्टी पानी में एक लीटर दूध मिलाकर गर्म किया गया और उसे बच्चों को बांट दिया गया.

स्कूल की रसोइया ने बताया कि उसे एक ही लीटर दूध उपलब्ध कराया गया था और उसने उसे एक बाल्टी पानी मिलाकर बच्चों को दे दिया. वहीं, दूसरी तरफ मौके पर जांच करने पहुंचे एबीएसए ने बताया कि प्रथम दृष्टया तो गलती शिक्षा मित्र की लगती है और उसे हटा दिया है. हालांकि बाद में भूल सुधार करते हुए बच्चों को दोबारा भी दूध बांटा गया था. वीडियो बनाने वाले रिपोर्टर के मुताबिक रसोइया पानी मिला रही थी. रसोइया के मुताबिक एक बाल्टी पानी में एक लीटर दूध मिलाया गया है.

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर के प्राइमरी स्कूल के बच्चों को नमक के साथ रोटी खिलाने का मामला सामने आया था. इसको लेकर प्रशासन और सरकार की जमकर किरकिरी हुई थी. साथ ही मामले में कई लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई थी. इसके बाद पुलिस ने मामले का खुलासा करने वाले स्थानीय पत्रकार और गांव के राजकुमार पाल पर साजिश रचने, गलत साक्ष्य बनाकर वीडियो वायरल करने और छवि खराब करने को लेकर आईपीसी की धारा 186,193,120B व 420 के तहत केस दर्ज किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें