scorecardresearch
 

मेरठ टेरर लिंक केस, परमजीत सिंह ने किया सुसाइड, परिवार बोला - NIA पूछताछ के बाद था तनाव

हस्तिनापुर के दूधली खादर के निवासी परमजीत के रिश्तेदारों ने बताया कि एनआइए ने चंड़ीगढ़ (पंजाब) बुलाकर परमजीत से करीब पांच घंटे तक पूछताछ की थी. वहां से लौटने के बाद वह किसी से बात भी नहीं कर रहा था.

परमजीत सिंह ने दी जान परमजीत सिंह ने दी जान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • परमजीत सिंह ने जहर खाकर किया सुसाइड
  • खालिस्तानी आतंकियों से लिंक का था शक

खालिस्तानी आतंकियों से लिंक को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) की पूछताछ के 24 घंटे बाद मेरठ के परमजीत सिंह (paramjeet singh) ने जहर खाकर जान दे दी. मेरठ के परमजीत सिंह से दो बार NIA ने पूछताछ की थी. परिवार का कहना है कि वह इससे परेशान थे. दरअसल, केएलएफ (खालिस्तानी लिबरेशन फोर्स) के सदस्य गगनदीप के साथ परमजीत की फोटो मिली थी. इसके बाद शक के आधार पर परमजीत से पूछताछ हुई थी. परमजीत पर खालिस्तानी आतंकियों को हथियार सप्लाई करने का आरोप था.

मेरठ जिले के हस्तिनापुर में रहने वाले परमजीत उर्फ मंगलसिंह ने जहर खाया था, जिसके बाद उन्हें प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था, जहां उनकी मौत हो गई.

परमजीत सिंह से दो बार NIA ने की थी पूछताछ

जानकारी के मुताबिक, 11 जुलाई को एनआईए ने परमजीत को उठाया था फिर 12 जुलाई को छोड़ा. 19 जुलाई को उन्हें पूछताछ के लिए चंड़ीगढ़ बुलाया गया. वह 20 जुलाई को मेरठ वापस आए थे. परिवार का आरोप है कि परमजीत ने तनाव में आकर खुदकुशी की.

हस्तिनापुर के दूधली खादर के निवासी परमजीत के रिश्तेदारों ने बताया कि एनआइए ने चंड़ीगढ़ (पंजाब) बुलाकर परमजीत से करीब पांच घंटे तक पूछताछ की थी. वहां से लौटने के बाद वह किसी से बात भी नहीं कर रहा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें