scorecardresearch
 

UP: फिरोजाबाद के एसआरके कॉलेज में छात्राओं के बुर्का पहनने पर पाबंदी

छात्राओं से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इससे पहले ऐसी कोई बात नहीं थी. हम कई बार बुर्का पहनकर क्लास में भी गए हैं, लेकिन आज मना कर रहे हैं. वहीं कॉलेज प्रिंसिपल की मानें तो उनका कहना है कि बुर्का ड्रेस कोड में नहीं आता इसलिए इसमें एंट्री नहीं होगी.

X
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

  • बुर्का पहनकर आई छात्राओं की नोट एंट्री
  • कॉलेज प्रशासन के मुताबिक ड्रेस कोड का हिस्सा नहीं बुर्का

उत्तर प्रदेश के एसआरके डिग्री कॉलेज में मुस्लिम महिलाओं से जुड़ा एक बड़ा मामला सामने आया है. यहां बुर्का पहनकर आई छात्राओं को कॉलेज प्रशासन ने एंट्री नहीं करने दी. प्रशासन ने छात्राओं से कहा कि बुर्का बाहर उतारकर आइए तभी कॉलेज में एंट्री हो पाएगी.

दरअसल एसआरके डिग्री कॉलेज में दो छात्राओं के गुटों में झगड़ा हुआ था और जमकर मारपीट हुई थी. इसके बाद कॉलेज के प्रशासन ने सख्त नियम लागू करने का फैसला किया था. अब नए नियम के बाद बुर्का पहनकर आने वाली छात्राओं को भी कॉलेज में एंट्री नहीं करने दी. स्टाफ ने छात्राओं से साफ कह दिया कि बुर्का उतारकर आने के बाद ही आपको कॉलेज में एंट्री करने की इजाजत दी जाएगी.

ड्रेस कोड में नहीं आता बुर्का

छात्राओं से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इससे पहले ऐसी कोई बात नहीं थी. हम कई बार बुर्का पहनकर क्लास में भी गए हैं, लेकिन आज मना कर रहे हैं. वहीं कॉलेज प्रिंसिपल की मानें तो उनका कहना है कि बुर्का ड्रेस कोड में नहीं आता इसलिए इसमें एंट्री नहीं होगी.

बुर्का पहनकर कॉलेज आईं छात्राओं को वापस भेजने के लिए डंडे दिखाकर डराया जा रहा है. छात्राओं के दो गुटों के बीच जमकर झगड़ा हुआ था, इसके बाद कॉलेज प्रशासन ने भारी संख्या में पुलिस फोर्स बुला लिया था. गौरतलब है कि इससे पहले किसी भी कॉलेज में ड्रेस कोड लागू नहीं किया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें