scorecardresearch
 

यूपी में 50 साल से अधिक उम्र के पुलिसकर्मियों की अनिवार्य सेवानिवृत्ति की कार्रवाई शुरू

यूपी चुनाव संपन्न होने के बाद अब पुलिस में 50 साल से अधिक उम्र के पुलिसकर्मियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दिए जाने की कार्रवाई फिर शुरू कर दी जाएगी. आदेश जारी कर दिए गए हैं और जल्द ही सेवानिवृत्ति का काम शुरू हो जाएगा.

X
 50 साल से अधिक उम्र के पुलिसकर्मियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति (सांकेतिक फोटो) 50 साल से अधिक उम्र के पुलिसकर्मियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जिनका काम ठीक नहीं, उन पर एक्शन
  • पिछले साल दिए थे निर्देश, अब कार्रवाई

उत्तर प्रदेश में चुनावी नतीजे आने के बाद आचार संहिता खत्म होने होते ही तमाम रुके सरकारी कामकाज शुरू हो गए हैं. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश पुलिस में 50 साल से अधिक उम्र के पुलिसकर्मियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दिए जाने की कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है.

उत्तर प्रदेश पुलिस में कंपलसरी रिटायरमेंट स्कीम के तहत पुलिस कर्मियों की स्क्रीनिंग का आदेश जारी हो गया है. डीजीपी मुख्यालय के एडीजी स्थापना ने इस संबंध में सभी रेंज के आईजी, एडीजी व यूपी पुलिस के सभी यूनिट के डीजी को निर्देश जारी किया है कि 31 मार्च 2021 को 50 साल पूरा करने वाले उन पुलिसकर्मियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति की स्क्रीनिंग कर ली जाए जिनका अब तक की नौकरी का ट्रैक रिकॉर्ड ठीक नहीं रहा.

दरअसल डीजीपी मुख्यालय ने बीते 30 नवंबर तक ऐसे पुलिसकर्मियों की लिस्ट मांगी थी लेकिन कई जिलों और विभागों से उन पुलिसकर्मियों की सूची नहीं भेजी गई जो अनिवार्य सेवानिवृत्ति में आ रहे थे, ऐसे में डीजीपी मुख्यालय ने 20 मार्च तक ऐसे पुलिसकर्मियों की लिस्ट मांगी है.

इस संबंध में एडीजी स्थापना का कहना है कि यह पुलिस की रूटीन कार्रवाई है जिसमें दागी व अक्षम पुलिसकर्मियों को चिन्हित कर अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी जाती है. कहा जा रहा है कि अब चुनाव संपन्न हो चुके हैं, कुछ दिनों में नई सरकार का भी गठन हो जाएगा, ऐसे में इस लटके हुए काम में तेजी आने वाली है.

यूपी चुनाव की बात करें तो एक बार फिर योगी सरकार की सत्ता में वापसी हो गई है. प्रचंड बहुमत के साथ फिर सरकार बनाई जा रही है. इस विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 273 सीटें जीती हैं, वहीं सपा के खाते में सिर्फ 124 सीटें जा पाई हैं. मायावती की बसपा का हाल तो और ज्यादा बुरा रहा क्योंकि वो सिर्फ एक सीट पर ही जीत पाई, वहीं कांग्रेस भी पूरी मेहनत करने के बावजूद 2 सीटों पर रुक गई. ऐसी खबर है कि होली के बाद योगी आदित्यनाथ दोबारा सीएम पद की शपथ ले सकते हैं. इसको लेकर कोई आधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है.
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें