scorecardresearch
 

UP: पंचायत चुनाव की काउंटिंग के दौरान जगह-जगह हंगामा, कहीं नाश्ता तो कहीं मानदेय है वजह

गिनती के दौरान कहीं नाश्ता न मिलने पर हंगामा किया गया तो कहीं जीत के सर्टिफिकेट को लेकर प्रदर्शन शुरू हो गया. इसके अलावा फतेहपुर में मानदेय न मिलने पर मतगणना कर्मचारियों ने काउंटिंग रोक दी और हंगामा करने लगे.

काउंटिंग के दौरान मतगणना कर्मियों का हंगामा काउंटिंग के दौरान मतगणना कर्मियों का हंगामा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • UP में पंचायत चुनाव की गिनती जारी
  • जगह-जगह हंगामे की तस्वीर आई सामने

उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव की गिनती जारी है. इस बीच कई जगह से हंगामे की खबर सामने आ रही है. कहीं नाश्ता न मिलने पर हंगामा किया गया तो कहीं जीत के सर्टिफिकेट को लेकर प्रदर्शन शुरू हो गया. इसके अलावा फतेहपुर में मानदेय न मिलने पर मतगणना कर्मचारियों ने काउंटिंग रोक दी और हंगामा करने लगे.

शुरुआत बिजनौर से करते हैं. बिजनौर के कोतवाली देहात ब्लॉक में चल रही पंचायत चुनाव की मतगणना में दूसरी शिफ्ट चेंज होने पर मतगणना कर्मियों ने नाश्ता और खाना समय पर ना मिलने को लेकर हंगामा किया और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की. मतगणना कर्मियों ने जिला प्रशासन पर कई आरोप लगाए.

मतगणना कर्मियों का आरोप है कि वह कल सवेरे 7 बजे से आए हुए थे और काउंटिंग में लगे हुए हैं, अब उनकी शिफ्ट चेंज हुई है, उसके बाद भी उन लोगों को वापस नहीं जाने दिया जा रहा जबकि रात में भी उनको खाना नहीं मिला और इस समय भी 8 बजे तक चाय तक नहीं मिली है. उन्होंने प्रशासन के इस रवैया के चलते हंगामा किया.

वहीं, फतेहपुर में मानदेय न मिलने पर मतगणना कर्मचारियों ने मतगणना रोक दी. मतगणना का कार्य छोड़कर मतगणना कर्मी बाहर निकल आए बाहर और हंगामा शुरू कर दिया. उन्होंने जिला प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया. उनका कहना है कि समुचित व्यवस्था किए बिना जिला प्रशासन ने रात भर मतगणना का कार्य कराया

इसी तरह फर्रुखाबाद में मानदेय न मिलने से मतगणना कर्मचारियों ने मतगणना रोक दी. विकास खण्ड कमालगंज मतगणना केंद्र पर कर्मचारियों ने काउंटिंग रोककर हंगामा किया. नाराज़ कर्मचारियों ने सुविधाओं का अभाव बताते हुए प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की. कर्मचारियों को प्रशासन की ओर से मनाने की कोशिश की गई.

वहीं, झांसी में मतगणना के बाद जीते प्रत्याशियों को सर्टिफिकेट देने में देरी पर लोगों ने हंगामा किया. निर्दलीय प्रत्याशी के जीतने पर सर्टिफिकेट नहीं दिया गया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें