scorecardresearch
 

UP: फिरोजाबाद में डेंगू का कहर, वायरल बुखार को भगाने के लिए अब लोग कर रहे हवन पूजन

यूपी के फिरोजाबाद में डेंगू का कहर है. जिला स्वास्थ्य महकमे की मानें तो अब तक 52 लोगों की मौत हो गई है और 413 के करीब मरीज मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं. डेंगू बुखार के कहर से लोग इस कदर डर गए हैं कि दवाइयों के अलावा वे हवन-पूजन भी कर रहे हैं.

वायरल बुखार को भगाने के लिए हवन पूजन करते लोग. वायरल बुखार को भगाने के लिए हवन पूजन करते लोग.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 30 अगस्त को सीएम योगी ने किया था इलाके का दौरा
  • सुदामा नगर इलाके में सात लोगों की हो चुकी है मौत

यूपी के फिरोजाबाद में डेंगू का कहर है. जिला स्वास्थ्य महकमे की मानें तो अब तक 52 लोगों की मौत हो गई है और 413 के करीब मरीज मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं. डेंगू बुखार के कहर से लोग इस कदर डर गए हैं कि दवाइयों के अलावा वे हवन-पूजन भी कर रहे हैं.

यहां के सुदामा नगर इलाके के लोगों ने बताया कि इस इलाके में 7 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, डेढ़ सौ के आसपास लोग बीमार हैं. कुछ लोग इलाके के अस्पताल में भी भर्ती हैं, तो कुछ घर पर रहकर इलाज करा रहे हैं.

बता दें कि यह वही सुदामा नगर है, जहां पर 30 अगस्त को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दौरा किया था. यहां की एक गली के चार लोगों की मौत हो गई थी. सीएम योगी ने मृतकों के परिजनों से मुलाकात की थी. 

इस इलाके में सड़क के किनारे बने एक पथवारी के मंदिर में इलाके के लोग इकट्ठे हो गए और हवन पूजन करने लगे.  सुदामा नगर निवासियों का कहना है कि यह उनका अंधविश्वास नहीं उनका विश्वास है. इलाके के अधिकतर लोग यह भी कहते रहे हैं कि जब कोरोना का प्रकोप फैल रहा था तो उन्होंने अपने इस देवी यानी पथवारी माता का पूजन किया था और कोरोना वायरस का प्रकोप इलाके तक नहीं आया.

इलाके के रहने वाले रवि बघेल का कहना है, ''हम लोग हवन इसलिए करा रहे हैं क्योंकि यहां महामारी फैली हुई है. इससे बचाव के लिए हमें अपने इष्ट देव पर भरोसा है . हम उनकी पूजा करते हैं और उनसे हमें सब कुछ मिलता है. करीब 8 या 10 लोग गुजर गए हैं . प्रत्येक घर में एक या दो बच्चों में यह बीमारी है. मुझे गिनती तो नहीं मालूम लेकिन हर घर में एक या दो बच्चे बीमार हैं.

इसपर भी क्लिक करें- फिरोजाबाद में डेंगू का कहर, बच्चे को बचाने के लिए मां ने पकड़े डॉक्टर के पैर, वीडियो

 

 

पंडित केशव कृष्ण सारस्वत ने कहा, ''यहां एक पीपल का पेड़ है. वहां देवी देवताओं का वास है, यह पथवारी माता का मंदिर है और जिस तरह से सुदामा नगर में महामारी फैली है, बच्चों की मौत हुई है. बच्चे बीमार हैं उसको देखकर हवन पूजन का आयोजन किया गया है. हमने माता रानी से प्रार्थना की है कि वह हमारे बच्चों की और हम लोगों की रक्षा करें. डॉक्टर तो अपना काम कर ही रहे हैं लेकिन प्रार्थना से भी हमें लाभ मिलेगा और हमारे बच्चे जल्दी स्वस्थ होंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें