scorecardresearch
 

यूपी: बिहार के गया में रेलवे ट्रैक पर बवाल के चलते डीडीयू जंक्शन पर फंसे रेलयात्री बेहाल

बिहार में RRB NTPC परीक्षा में धांधली के आरोप लगाने वाले छात्रों का आंदोलन जारी है. इसको लेकर कई स्टेशनों पर तोड़फोड़ की गई है, बोगियों में आग लगा दी गई है. इससे कई ट्रेनों का चक्का जाम हो गया है. यात्री परेशान (Railway Passengers) हो रहे हैं. डीडीयू रेल डिवीजन के डीआरएम (DRM of DDU Rail Division) के अनुसार, रात आठ बजे तक यातायात बहाल होने की उम्मीद है.

X
बिहार के डीडीयू जंक्शन पर फंसे हैं तमाम रेलयात्री.  (Photo: Aajtak) बिहार के डीडीयू जंक्शन पर फंसे हैं तमाम रेलयात्री. (Photo: Aajtak)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • डीडीयू रेल मंडल के अलग अलग स्टेशनों पर रोकी गई हैं ट्रेनें
  • श्रमजीवी एक्सप्रेस, भागलपुर-सूरत एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनें प्रभावित

आरआरबी एनटीपीसी (RRB NTPC) की भर्ती प्रक्रिया को लेकर चल रहा परीक्षार्थियों का आंदोलन रुकने का नाम नहीं ले रहा है. आज सुबह दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल के गया और जहानाबाद रेलवे स्टेशनों पर आंदोलनकारी छात्रों ने जमकर बवाल किया. रेल की पटरी क्षतिग्रस्त कर दी गई. ट्रेनों की कई बोगियां भी फूंक दी गईं. इससे हावड़ा गया जंक्शन रेल रूट पर ट्रेनों का आवागमन ठप हो गया. तमाम ट्रेनें जहां की तहां खड़ी हो गईं. एक तरफ जहां इन ट्रेनों में सवार यात्री जहां के तहत फंस गए, वहीं दूसरी तरफ ट्रेनों के इंतजार में भी यात्री पूरे दिन बेहाल रहे.

दिल्ली हावड़ा रेल रूट (Delhi Howrah Rail Route) के सर्वाधिक व्यस्ततम रेलवे स्टेशनों में शुमार पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन (Pandit Deendayal Upadhyay Junction) के बाहर तमाम यात्री परेशान रहे. यहां परिवार के साथ बैठे बिहार के मेराज खान को श्रमजीवी एक्सप्रेस से दिलदारनगर से नई दिल्ली जाना था. लेकिन जब इनको जानकारी मिली कि श्रमजीवी एक्सप्रेस (Shramjeevi Express) दिलदारनगर के रास्ते न आकर गया के रास्ते जाएगी, दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन होते हुए आगे जाएगी. 

इसके बाद मेराज खान अपने पूरे परिवार के साथ सड़क मार्ग से किसी तरह डीडीयू जंक्शन पहुंचे, लेकिन जब मेराज खान और उनका परिवार डीडीयू जंक्शन पहुंचा तो पता चला कि बिहार के गया में भी आंदोलनकारियों ने बवाल कर दिया है. इससे श्रमजीवी एक्सप्रेस ट्रेन बीच रास्ते में ही रुकी हुई है. मेराज खान और उनका परिवार पिछले कई घंटों से ट्रेन इंतजार में बेहाल है.

मेराज खान ने कहा कि मेरी ट्रेन दिलदारनगर से थी, लेकिन मुझे नेट पर यह खबर मिली कि ट्रेन डाइवर्ट हो गई है और वह वाया गया आएगी. मैं मुगलसराय आया हूं, यहां ट्रेन का इंतजार कर रहा हूं. अभी तक ट्रेन की कोई खबर नहीं है. खुले आसमान के नीचे बैठा हूं. फैमिली के साथ इस ठंड में कहां जाऊं, क्या करूं, कुछ समझ में नहीं आ रहा है.

श्रमजीवी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनें की गईं थीं डायवर्ट

पटना में परीक्षार्थियों द्वारा सवाल किए जाने के बाद श्रमजीवी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों के रूट को डायवर्ट कर दिया गया था, उन्हें गया रूट से चलाया जा रहा था, लेकिन आज गया में भी बवाल हो गया और तमाम ट्रेनें जहां की तहां रुक गईं, लेकिन इन ट्रेनों में जिनका रिजर्वेशन था, वह लोग किसी तरह डीडीयू जंक्शन पहुंचे, लेकिन यहां भी उनको ट्रेन का इंतजार ही करना पड़ा. एक यात्री सरिता भी डीडीयू जंक्शन पर श्रमजीवी एक्सप्रेस का इंतजार करते हुए मिली.

'सुबह पता चला कि पटना नहीं आएगी ट्रेन'

सरिता को पटना से श्रमजीवी एक्सप्रेस से लखनऊ जाना था. अगले दिन उनको ऑफिस ज्वाइन करना था, लेकिन सरिता को सुबह पता चला कि उनकी ट्रेन पटना नहीं आएगी, बल्कि गया जंक्शन होते हुए लखनऊ जाएगी. आनन-फानन में सरिता और उनकी बेटी श्रुति गाड़ी बुक कर सड़क मार्ग से दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन पहुंचीं, लेकिन जब यह परिवार दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन पहुंचा तो यहां आने के बाद भी इनकी ट्रेन समय से नहीं पहुंची. गया में बवाल के चलते श्रमजीवी एक्सप्रेस को गया में ही रोक दिया गया था. 

सरिता ने कहा कि ट्रेन के बारे में कल शाम को ही पता चला था, लेकिन हम लोगों की बुकिंग आज की थी. सुबह 4:00 बजे मैसेज आया कि यह ट्रेन स्टेशन पर नहीं जाएगी. यही बात थी तो रात में ही मैसेज कर सकते थे. जबकि चार्ट तो रात में ही बनता है. 

डीआरएम बोले: रेलवे ट्रैक की मरम्मत की जा रही है

गौरतलब है कि पटना में हुए बवाल के चलते इस रूट की सभी ट्रेनों को डायवर्ट कर दिया गया था. इसमें श्रमजीवी एक्सप्रेस और अन्य श्रेणी भी शामिल थीं, लेकिन आज गया में हुए बवाल के बाद इस ग्रुप पर भी ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हो गया और यात्री बेहाल होते रहे. उधर पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल के डीआरएम राजेश कुमार पांडे ने बताया कि आंदोलनकारियों के बवाल के चलते एहतियातन ट्रेनों को जहां के तहां रोक दिया गया है. 

'जली हुई बोगियों को ट्रैक से हटाया जा रहा है'

DRM ने कहा कि जिन स्टेशनों पर आंदोलन हो रहा है, वहां पर भारी मात्रा में फोर्स तैनात कर दी गई है. हालात काबू में हैं. रेलवे ट्रैक की मरम्मत की जा रही है. जली हुई बोगियों को ट्रैक से हटाया जा रहा है. उम्मीद जताई जा रही है कि 8 बजे तक यातायात बहाल हो जाएगा. उन्होंने बताया कि यात्रियों की सुविधा के लिए तमाम बड़े स्टेशनों पर खान-पान के स्टाल 24 घंटे खोलने के आदेश दे दिए गए हैं. यह भी निर्देशित किया गया है कि सभी स्टालों पर प्रचुर मात्रा में खाने पीने का सामान उपलब्ध रखा जाए, ताकि यात्रियों को दिक्कत न हो.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें