scorecardresearch
 

यूपी: उद्घाटन के कुछ देर बाद ही एक्सप्रेस वे पर आया कुत्ता, टच डाउन नहीं कर पाया सुखोई विमान

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को देश के सबसे लंबे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे का उन्नाव में लोकार्पण किया. इस मौके पर एक्सप्रेस वे पर वायु सेना के फाइटर प्लेन ने लैंड किया.

अखिलेश यादव का दावा- एक्सप्रेस वे का काम रिकॉर्ड वक्त में पूरा हुआ अखिलेश यादव का दावा- एक्सप्रेस वे का काम रिकॉर्ड वक्त में पूरा हुआ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को देश के सबसे लंबे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे का उन्नाव में लोकार्पण किया. इस मौके पर एक्सप्रेस वे पर वायु सेना के फाइटर प्लेन ने लैंड किया. उद्घाटन के मौके पर यूपी के सीएम अखिलेश ने कहा कि नेताजी ने इंजीनियरों से कहा था, पता नहीं आने वाले समय में समाजवादी पार्टी की सरकार होगी या नहीं. इसी सरकार में इस एक्सप्रेसवे का उद्घाटन होना चाहिए.

इस बीच सरकारी इंतजामों की पोल खुल गई, जब एक्सप्रेस वे पर एक कुत्ते के आ जाने के चलते एक सुखाेई विमान हाईवे को छुए बिना ही गुजर गया. अख‍िलेश ने लोगों से अपील की कि गाड़ी चलाते हुए 100 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड लिमिट क्रॉस न करें. उन्होंने राज्य के प्रमुख सचिव नवनीत सहगल के कार्यक्रम में मौजूद न रहने पर भी अफसोस जताया.

अखिलेश ने कहा, 'मुझे अफसोस है कि जिस अफसर ने एक्सप्रेव के लिए सबसे ज्यादा योगदान दिया, वो उद्घाटन के मौके पर मौजूद नहीं है.' नवनीत सहगल का शुक्रवार को एक्सीडेंट हो गया था. फिलहाल उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है. एक्सप्रेस वे के उद्घाटन के मौके पर अखिलेश के साथ-साथ उनके चाचा शिवपाल यादव, रामगोपाल यादव और कैबिनेट मंत्री आजम खान भी मौजूद हैं.

उत्तर प्रदेश सरकार का दावा है कि एक्सप्रेस-वे के मुख्य कैरिजवे का निर्माण 23 माह के रिकॉर्ड समय में किया गया है. एक्सप्रेस-वे आगरा से शुरू होकर फिरोजाबाद, मैनपुरी, इटावा, औरैया, कन्नौज, हरदोई, कानपुर, उन्नाव होते हुए लखनऊ तक पहुंचेगा. 302 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस के चलते आगरा से लखनऊ की दूरी तय करने में तीन से साढ़े तीन घंटे तक का वक्त कम लगेगा. जबकि दिल्ली से लखनऊ की दूरी तय करने में 5 से 6 घंटे का वक्त बचेगा.

 

आधा वक्त बचाएगा एक्सप्रेस वे
उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि एक्सप्रेस वे शुरू होने से लखनऊ-दिल्ली का सफर तय करने में लगभग आधा वक्त लगेगा और उसी हिसाब से फ्यूल की भी बचत होगी.

पहली बार एक्सप्रेस वे पर बनाई गई एयर स्ट्रिप
बांगरमऊ और गंज-मुरादाबाद के बीच के तीन किलोमीटर के स्ट्रेच को फाइटर जेट की लैंडिंग और टेक ऑफ के लिए चुना गया. यूपी सरकार के मुताबिक, आपातकाल में भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों के ऑपरेशन के लिए एक्सप्रेस वे पर देश के पहले एयर स्ट्रिप का भी निर्माण किया गया है.

हाल में अखिलेश यादव ने कहा था कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे का काम रिकॉर्ड समय दो वर्ष में पूरा हुआ. इसका कोई मुकाबला नहीं कर सकता. इतने कम समय में अब तक किसी भी सरकार ने इतनी तेजी से विकास नहीं किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें