scorecardresearch
 

DSP हत्याकांडः राजा भैया पर कसा शिकंजा, धारा 302 के तहत मामला दर्ज

प्रतापगढ़ के कुंडा हत्याकांड की जांच सीबीआई ने शुरू कर दी है. बलीपुर गांव के प्रधान, उसके भाई और डीएसपी की मौत पर सीबीआई ने चार एफआईआर दर्ज की है. एफआईआर में राजा भैया का भी नाम दर्ज है.

प्रतापगढ़ के कुंडा हत्याकांड की जांच सीबीआई ने शुरू कर दी है. बलीपुर गांव के प्रधान, उसके भाई और डीएसपी की मौत पर सीबीआई ने चार एफआईआर दर्ज की है. एफआईआर में राजा भैया का भी नाम दर्ज है. राजा भैया के खिलाफ धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

शनिवार को हुई घटना के चार दिन बाद सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की है.

पहली एफआईआर गांव के प्रधान नन्हे यादव के मर्डर की दर्ज की गई है. दूसरी एफआईआर एफआईआर डीएसपी जियाउल हक की पत्नी परवीन आजाद की शिकायत पर दर्ज की गई है. तीसरी एफआईआर प्रधान के भाई की हत्या की दर्ज की गई है. जबकि चौथी एफआईआर पुलिस की शिकायत पर दर्ज की गई है.

गौरतलब है की घटना के अगले दिन यानी रविवार को यूपी सरकार ने डीएसपी की पत्नी परवीन की मांग पर घटना की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी.

क्या है मामला

प्रतापगढ़ जिले में बलीपुर गांव में शनिवार शाम ग्राम प्रधान और उनके भाई की हत्या की गई थी. इसके बाद भीड़ ने पुलिस पर हमला कर दिया था. इस हमले में डीएसपी की मौत हो गई. आठ पुलिसकर्मी भी घायल हो गए. पुलिस ने राजा भैया के खिलाफ केस जियाउल हक की पत्नी परवीन आजाद की शिकायत के बाद दर्ज किया.

आज तक के पास शिकायत की वो कॉपी है, जिसे जियाउल हक की पत्नी ने पुलिस के सामने दी है. इस चिट्ठी में साफ साफ लिखा है कि डिप्टी एसपी जियाउलहक की हत्या राजा भैया के आदमियों ने करवाई है. इतना ही नहीं चिट्ठी में ये भी लिखा गया है कि हत्या से पहले जिया उलहक के साथ मारपीट की गई, और बाद में उन्हें तमंचे से गोली मार दी गई. मृतक डिप्टी एसपी की पत्नी के मुताबिक पिछले कई दिनों से जियाउल हक को धमकिया मिल रही थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें