scorecardresearch
 

रेप मामलों पर उन्नाव पुलिस ने प्रियंका के आंकड़ों को किया खारिज, दिया दूसरा डाटा

यूपी की उन्नाव पुलिस ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के उस दावे को खारिज किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि सिर्फ इस साल उन्नाव में रेप के 90 मामले दर्ज किए गए हैं. उन्नाव पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 11 महीने में जिले में रेप के 51 केस रिकॉर्ड किए गए हैं.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शनिवार को उन्नाव पहुंचीं (फोटो-पीटीआई) कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शनिवार को उन्नाव पहुंचीं (फोटो-पीटीआई)

  • उन्नाव पुलिस ने प्रियंका के दावे को किया खारिज
  • उन्नाव में 11 महीने में रेप के 51 केस दर्ज
  • रेप पीड़िता के घर गई थीं प्रियंका गांधी वाड्रा

यूपी की उन्नाव पुलिस ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के उस दावे को खारिज किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि सिर्फ इस साल उन्नाव में रेप के 90 मामले दर्ज किए गए हैं. उन्नाव पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 11 महीने में जिले में रेप के 51 केस रिकॉर्ड किए गए हैं.

प्रियंका से अलग यूपी पुलिस के दावे

इंडिया टुडे से बात करते हुए उन्नाव के एसपी विक्रांत वीर ने कहा, "1 जनवरी 2019 से 30 नवंबर तक उन्नाव जिले में आने वाले थानों में बलात्कार के 51 केस दर्ज किए गए हैं. 2018 में ये आंकड़ा 64 था. जबकि 2017 में 54 और 2016 में 37. जबकि 2015 में रेप के 39 मामले दर्ज किए गए."

प्रियंका ने कहा था- उन्नाव में साल भर में रेप के 90 मामले

शनिवार को कांग्रेस महासचिव अपने सारे निर्धारित कार्यक्रम को अचानक रद्द कर दोपहर उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के घर पहुंचीं, जहां उन्होंने पीड़िता के परिजनों से मुलाकात की. उन्नाव रेप पीड़िता पर आरोपियों ने हमला कर दिया था और उन्हें जिंदा जला दिया था. दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी. इससे पहले प्रियंका ने शुक्रवार को कहा था कि इस साल उन्नाव में रेप के लगभग 90 मामले दर्ज किए गए थे. प्रियंका ने कहा था कि महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ रहा है और सरकार आरोपियों को बचाने में लगी है. प्रियंका ने मांग की थी कि यूपी सीएम को अपने ऑफिस में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर एक हेल्पलाइन नंबर बनाना चाहिए, और इस पर आने वाली किसी भी शिकायत पर तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए.

यूपी में कानून व्यवस्था खोखली

उन्नाव की घटना पर प्रियंका योगी सरकार पर जमकर बरसीं. उन्होंने कहा, "यह हम सबकी नाकामी है कि हम उसे न्याय नहीं दे पाए, सामाजिक तौर पर हम सब दोषी हैं, लेकिन यह उत्तर प्रदेश में खोखली हो चुकी कानून-व्यवस्था को भी दिखाता है." प्रियंका ने पूछा कि राज्य में महिलाओं पर अत्याचार क्यों बढ़ रहे हैं और उन्नाव में पिछली घटना को देखते हुए पीड़िता को कोई सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? प्रियंका ने आगे कहा, "उप्र में रोज रोज महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहा है, उसको रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है?"

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें