scorecardresearch
 

फसल खराब होने से परेशान दो किसानों ने की खुदकुशी

उत्तर प्रदेश के सम्भल और जालौन जिलों में कथित रूप से फसल बरबाद होने से दुखी दो किसानों ने आत्महत्या कर ली. किसान ने टमाटर की फसल के बेमौसम बारिश में खराब होने से कथित रूप तौर पर परेशान होकर खुद को आग लगा ली.

Symbolic Image Symbolic Image

उत्तर प्रदेश के सम्भल और जालौन जिलों में कथित रूप से फसल बरबाद होने से दुखी दो किसानों ने आत्महत्या कर ली. सम्भल से पुलिस सूत्रों के हवाले से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक बहजोई थाना क्षेत्र के परतापुर गांव में हरिओम उम्र 50 साल नामक किसान ने अपने खेत में लगी टमाटर की फसल के बेमौसम बारिश में खराब होने से कथित रूप तौर पर परेशान होकर खुद को आग लगा ली.

उपजिलाधिकारी संजय कुमार ने कहा कि हरिओम बेहद गरीब किसान था और उसने 50 हजार रुपये कर्ज लेकर अपने खेत में टमाटर बोया था. उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है.

जालौन से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक कालपी क्षेत्र में भी खराब फसल से परेशान होकर 70 साल के सियाराम नामक किसान ने ट्रेन से कटकर खुदकुशी कर ली. उसकी जेब से मिले खत में इस कदम के लिए खराब फसल को कारण बताया है.

सियाराम के परिजन के मुताबिक हाल में हुई बेमौसम बारिश के कारण फसल खराब होने के कारण उसने आत्महत्या की है. हालांकि जिला प्रशासन इस दावे को संदिग्ध मान रहा है. जिलाधिकारी रामगणेश ने कहा कि सियाराम द्वारा आत्महत्या के कारणों की जांच कराई जा रही है. इस सिलसिले में एक रिपोर्ट जल्द ही शासन को भेजी जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें