scorecardresearch
 

बुंदेलखंड में अखिलेश के लिए हेलीपैड पर बहाया हजारों लीटर पानी

अखिलेश यादव खुद मानते हैं कि बुंदेलखंड में सूखे के चलते काफी खराब हालात हैं. वहीं ललितपुर जिला प्रशासन ने हजारों लीटर पानी बर्बाद कर दिया. ऐसा ही वाकया मराठवाड़ा इलाके के सूखा पीड़ित जिले लातूर में महाराष्ट्र के मंत्री एकनाथ खड़से के दौरे के दौरान भी हुआ था.

X
हेलीपैड पर धूल उड़ने से बचाने के लिए बहाया पानी हेलीपैड पर धूल उड़ने से बचाने के लिए बहाया पानी

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सूखाग्रस्त बुंदेलखंड इलाके के ललितपुर जिले के दौरे के दौरान हजारों लीटर पानी फैलाकर बर्बाद कर दिया गया. जिला प्रशासन ने मुख्यमंत्री के हेलीकाप्टर उतरने के लिए बनाए गए होलीपैड पर धूल उड़ने से बचाने के लिए हजारों लीटर पानी फैलाकर बर्बाद कर दिया.

अखिलेश यादव खुद मानते हैं कि बुंदेलखंड में सूखे के चलते काफी खराब हालात हैं. वहीं ललितपुर जिला प्रशासन ने हजारों लीटर पानी बर्बाद कर दिया. ऐसा ही वाकया मराठवाड़ा इलाके के सूखा पीड़ित जिले लातूर में महाराष्ट्र के मंत्री एकनाथ खड़से के दौरे के दौरान भी हुआ था. तब मामले को लेकर काफी सियासत की गई थी.

कई किलोमीटर दूर से भरना पड़ता है पानी
ललितपुर जिले में सूखे की मार झेल रहे ग्रामीण कई किलोमीटर दूर जाकर पानी भरने को मजबूर हैं. ऐसे वक्त में जब देश और प्रदेश में सूखे और पानी की कमी के चलते लोग परेशान हैं, मुख्यमंत्री के हेलीकाप्टर उतरने के समय धूल न उड़े इसलिए हजारों लीटर पानी बर्बाद कर देना समस्याओं का मजाक उड़ाने की तरह है. मामले पर विपक्षी दलों ने निशाना साधने की तैयारी कर ली है.

बुंदेलखंड में सूखे का सबसे अधिक असर
इस दौरान अखिलेश यादव ने जिले में 6 योजनाओं का लोकार्पण किया और अन्य 6 योजनाओं का शिलान्यास किया. जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार के जन कल्याणकारी कार्यों को गिनाया. उन्होंने विपक्षी पार्टियों को भी आड़े हाथो लेते हुए कहा कि बुंदेलखंड में सूखे का सबसे अधिक असर है. इसके लिए हमारी सरकार तमाम योजनाएं चला रही है. वहीं बीजेपी कहीं दिखाई नहीं दे रही है, जबकि उत्तर प्रदेश ने उन्हें सबसे अधिक सांसद दिए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें