scorecardresearch
 

लखनऊ: नोटबंदी में धर्म के आधार पर भेदभाव के औवेसी के दावों का रियल‍िटी चैक

आईडीबीआई बैंक के बाहर कतार में खड़ी सायरा गुस्से में कहती है कि मोदी जी को दिक्कत का क्या पता चलेगा, उनके घर का तो काम आराम से चल जाएगा. वो लाइन में आकर लगें तो पता चलेगा.

एटीएम पर रियलटी टेस्ट एटीएम पर रियलटी टेस्ट

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन औवेसी के बैंकों में पैसा डालने को लेकर धर्म के आधार पर भेदभाव करने के आरोप पर आजतक की टीम ने लखनऊ में इसका रियलटी चैक किया. लखनऊ के पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम के बाहर खड़े गार्ड ने बताया कि यह एटीएम पिछले एक महीने से बंद पड़ा है, वहीं साथ के ही यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का एटीएम का भी यही हाल है, जहां पिछले कई दिनों से कैश नहीं डला है.

आईडीबीआई बैंक के बाहर कतार में खड़ी सायरा गुस्से में कहती है कि मोदी जी को दिक्कत का क्या पता चलेगा, उनके घर का तो काम आराम से चल जाएगा. वो लाइन में आकर लगें तो पता चलेगा. सायरा सवाल करती हैं कि पांच सौ रुपये के नोट बाजार में आए हुए इतने दिन हो गए है लेकिन अभी तक लोगों को उपलब्ध नहीं हो रहे है, आखिर ये नोट जा कहां रहे है ?

तीन दिन की छुट्टी के बाद खुले बैंकों में हर जगह भगदड़ का माहौल था, बैंक सिर्फ शाखा में जिनका खाता है उन्हें ही कैश दे रहे थे. लाइन में खड़े कैश निकाल रहे रजा अब्बास बताते है कि पता नहीं कैश खत्म हो जाएगा.

लखनऊ के अधिकतर एटीएम खराब पड़े है, जिसके कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. अपनी राजनीति चमकाने में लगे औवेसी के बयान का यहां कोई खास असर नहीं दिख रहा है क्योंकि नोटबंदी से हर कोई परेशान है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें