scorecardresearch
 

राम मंदिर भूमि सौदे पर विवाद, केशव मौर्य बोले- सपा को सवाल पूछने का नैतिक अधिकार नहीं

यूपी चुनाव में कौन चेहरा होगा, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि बीजेपी, सपा-बसपा या कांग्रेस की तरह प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं है. हमारा राष्ट्रीय नेतृत्व है. हमारा सामूहिक नेतृत्व है. सामूहिक निर्णय है. योगी आदित्यनाथ हमारे मुख्यमंत्री हैं.

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या (फाइल फोटोः पीटीआई) यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या (फाइल फोटोः पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी के डिप्टी सीएम ने बताया घटिया राजनीति करने की कोशिश
  • कहा- कोई घोटाला नहीं हुआ, राम मंदिर ट्रस्ट पर भरोसा बरकरार

यूपी की सियासत इन दिनों अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट की ओर से किए गए जमीन के एक सौदे को लेकर गर्म है. समाजवादी पार्टी समेत पूरा विपक्ष हमलावर है. राम मंदिर ट्रस्ट की ओर सफाई भी दी जा चुकी है लेकिन इस मसले को लेकर सियासत थमती नजर नहीं आ रही है. यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने इस मसले को लेकर विपक्ष पर जवाबी हमला बोला है.

केशव प्रसाद मौर्या ने आजतक से बात करते हुए कहा कि कोई घोटाला नहीं हुआ है. इसे लेकर विपक्ष पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए मौर्य ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के प्रति जनता का विश्वास है और आगे भी रहेगा. उन्होंने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए कहा कि पहले तो वे इस बात का जवाब दें कि राम भक्तों पर गोली क्यों चलवाई थी. उनको सवाल करने का नैतिक अधिकार नहीं है.

यूपी के डिप्टी सीएम ने कहा कि राम मंदिर को लेकर सपा या जिस भी दल की ओर से घटिया राजनीति करने की कोशिश की जा रही है, निश्चित रूप से उसे जवाब मिलेगा. अखिलेश यादव की ओर से बसपा और कांग्रेस से गठबंधन न करने के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी ने 2014, 2017 और 2019 के चुनाव में सपा को बुरी तरह से हराया था.

केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि 2022 में भी बीजेपी 300 से अधिक सीटें जीतेगी. वे मुंगेरीलाल के हसीन सपने देख रहे हैं, देखने का उनको पूरा अधिकार है. यूपी चुनाव में कौन चेहरा होगा, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि बीजेपी, सपा-बसपा या कांग्रेस की तरह प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं है. हमारा राष्ट्रीय नेतृत्व है. हमारा सामूहिक नेतृत्व है. सामूहिक निर्णय है. योगी आदित्यनाथ हमारे मुख्यमंत्री हैं.

यूपी के डिप्टी सीएम ने कहा कि जिसका भी नेतृत्व पार्टी तय करेगी, हम एकजुटता के साथ चुनाव लड़ेंगे और 300 से ज्यादा सीटें जीतकर फिर से सरकार बनाएंगे. गौरतलब है कि पिछले दिनों लखनऊ से लेकर दिल्ली तक बैठकों का दौर चला था. सीएम योगी ने भी दिल्ली जाकर पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की थी. लगातार बैठकों के दौर से यूपी में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलें भी लगाई जाने लगी थीं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें