scorecardresearch
 

जल्द होगा राहुल गांधी का बुंदेलखंड दौरा

राहुल का दौरा इसलिए भी अहम है क्योंकि सूखे से बेहाल बुंदेलखंड की धरती में अकाल जैसे हालात हैं और 2017 यूपी विधानसभा चुनावों के लिहाज से कांग्रेस पार्टी इस पूरे मुद्दे पर किसानों की हितैषी दिखना चाहती है.

X
राहुल गांधी
राहुल गांधी

सूखे से बेहाल बुंदेलखंड में किसानों की आत्महत्या और भुखमरी की घटनाओं के बीच राहुल गांधी जल्द यहां का दौरा कर सियासी पारा बढ़ा सकते हैं. यूपी कांग्रेस ने संकेत दिए हैं कि 10 जनवरी के आसपास यह दौरा हो सकता है या इसकी तस्वीर साफ हो सकती है.

राहुल का दौरा इसलिए भी अहम है क्योंकि सूखे से बेहाल बुंदेलखंड की धरती में अकाल जैसे हालात हैं और 2017 यूपी विधानसभा चुनावों के लिहाज से कांग्रेस पार्टी इस पूरे मुद्दे पर किसानों की हितैषी दिखना चाहती है. यूपी कांग्रेस उपाध्यक्ष दलजीत सिंह ने शनिवार शाम बांदा में यह जानकारी दी.

किसानों के प्रति संवेदनशील दिखना चाहती है कांग्रेस
माना जा रहा है कि राहुल गांधी का बुंदेलखंड दौरा उनके पिछले दौरों से काफी अलग होगा. केंद्र और प्रदेश में दूसरी पार्टियों की सरकार होने की वजह से राहुल गांधी बेहद आक्रामक नजर आ सकते हैं. 2017 में यूपी विधानसभा चुनाव तैयारियों के मद्देनजर कांग्रेस पार्टी किसानों के मुद्दे पर बेहद संवेदनशील दिखना चाहती है, इसी के मद्देनजर रीता बहुगुणा जोशी 3 जनवरी को बांदा आकर सूखे से बेहाल कई गांवों का दौरा करेंगी. यूपी कांग्रेस उपाध्यक्ष दलजीत सिंह ने बांदा में बताया कि राहुल गांधी का कार्यक्रम अभी निर्धारित नहीं हुआ है लेकिन बुंदेलखंड के किसानों की समस्याओं को लेकर उनके नेता बहुत संवेदनशील हैं और इसी महीने की 10 तारीख के आसपास वह यहाँ का दौरा कर सकते हैं.

जल्द तय होगा दौरा
दलजीत सिंह ने बताया, 'बुंदेलखंड क्षेत्र में किसान कर्ज और बेरोजगारी की वजह से आत्महत्या करता रहा है. यह सूखा एरिया है सिंचाई के साधन नहीं हैं. योजनायें भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई हैं. कांग्रेस सदन में यह मुद्दा उठाती रही है. इस सब बातों को लेकर हमारे नेता राहुल गांधी जी पहले भी बुंदेलखंड के कई दौरे कर चुके है, जैसी मुझे जानकारी है वह बहुत जल्द यहां का दौरा करने वाले हैं. निश्चित तौर पर 10 जनवरी के आसपास दौरा होने की उम्मीद है. दो-तीन दिन कार्यक्रम आगे पीछे हो सकता है, जल्द ही कार्यक्रम साफ होगा.

दलजीत सिंह ने कहा, 'कांग्रेस ने यहां आकर पहले किसानों का कर्ज माफ कराया था जबकि गृहमंत्री यहां आकर कर्ज माफ करने से साफ मना कर गए. राहुल जी ने बुंदेलखंड पैकेज भी दिलवाया था वह राजनीतिक तौर पर यह सब नहीं करते बल्कि दिल से लोगों की मदद करते हैं. बीजेपी दिखावे की और संवेदनशून्य सरकार है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें