scorecardresearch
 

UP के लिए प्रियंका गांधी ने बनाई खास रणनीति, कांग्रेस छोड़कर जा चुके नेताओं की करवाएंगी वापसी

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कांग्रेस (Congress) छोड़ चुके पुराने नेताओं और कार्यकर्ताओं के बारे में संगठन के पदाधिकारियों व सचिवों से सवाल-जवाब किया. उन्होंने खास रणनीति पर काम करते हुए यह जानने की कोशिश की कि आखिर क्या वजह थी जो लोग कांग्रेस छोड़कर अन्य दलों में चले गए.

राहुल गांधी और प्रियंका गांधी (फाइल फोटो) राहुल गांधी और प्रियंका गांधी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी चुनाव के लिए प्रियंका गांधी की खास रणनीति
  • पार्टी छोड़ चुके नेताओं की करवाएंगी वापसी
  • जरूरत पड़ी तो खुद प्रियंका करेंगी बातचीत

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) इन दिनों प्रदेश के दौरे पर हैं. दो दिन तक वह लखनऊ में रहीं, जहां पर उन्होंने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ कई बैठकें कीं तो रविवार को रायबरेली में चुनावी तैयारियों का जायजा लेने पहुंच गईं. लखनऊ के दो दिनों के दौरे के दौरान प्रियंका गांधी ने कांग्रेस छोड़ चुके पुराने नेताओं और कार्यकर्ताओं के बारे में संगठन के पदाधिकारियों व सचिवों से सवाल-जवाब किया.

प्रियंका गांधी ने खास रणनीति पर काम करते हुए यह जानने की कोशिश की कि आखिर क्या वजह थी जो लोग कांग्रेस छोड़कर अन्य दलों में चले गए. यही नहीं, प्रियंका गांधी ने उन नेताओं को वापस बुलाने के लिए हर कोशिश करने के भी आदेश दिए और कहा कि यदि जरूरत पड़ती है तो वह खुद चलकर उन नेताओं तक जाएंगी या फिर फोन पर बातचीत करेंगी.

कांग्रेस महासचिव अपने लखनऊ दौरे में जब संगठन के राष्ट्रीय सचिव, उपाध्यक्ष, महासचिव समेत अन्य नेताओं से बातचीत कर रही थीं, तब वह एक विषय पर काफी गंभीर दिखाई दीं. यह विषय कुछ और नहीं, बल्कि कांग्रेस छोड़ चुके या निष्क्रिय हो चुके नेताओं के बारे में था. उन्होंने यह जानने की कोशिश की कि आखिर किसकी वजह से ये लोग पार्टी छोड़ने पर मजबूर हो गए. इन सभी नेताओं के बारे में प्रियंका गांधी ने एक-एक करके संगठन के पदाधिकारियों से जाना. उन्होंने यह भी पूछा कि यदि किसी नेता की वजह से ये लोग पार्टी छोड़कर गए हैं तो उनका नाम क्या है.

कांग्रेस प्रवक्ता विकास श्रीवास्तव ने बैठक के बारे में बताया, ''कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी इस बात से काफी नाराज हैं कि नेता और कार्यकर्ता के पार्टी छोड़ने का कारण क्या है. यही नहीं वह यह भी जानना चाहती हैं कि इसके पीछे कौन जिम्मेदार है. पार्टी छोड़कर जा चुके नेताओं को दोबारा सम्मान के साथ पार्टी में वापस लाया जाए. यदि जरूरत पड़ती है तो वह खुद भी उन नेताओं के घर जाकर बातचीत करेंगी.'' श्रीवास्तव ने आगे बताया कि संगठन के पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि फोन पर बातचीत करके रिपोर्ट सौंपी जाए और उनको दोबारा कांग्रेस में सम्मान दिया जाए. प्रियंका गांधी का साफ आदेश है कैसे भी हो, इन नेताओं को वापस लाया जाना चाहिए.

कार्यकर्ताओं संग प्रियंका ने खिंचवाई थी तस्वीरें

लखनऊ पहुंचने के बाद प्रियंका गांधी ने कार्यकर्ताओं और नेताओं से मुलाकात की थी. इसके साथ ही उन्होंने कार्यकर्ताओं के साथ तस्वीरें भी खिंचवाई थीं. देर रात तक चले इस फोटो सेशन में एक हजार से ज्यादा महिला यूथ विंग और सेवा दल समेत हजारों लोग शामिल हुए थे.

इधर, लखनऊ में चुनावी तैयारियों के बारे में जायजा लेने के बाद प्रियंका गांधी रविवार को रायबरेली पहुंचीं. रायबरेली उनकी मां और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है. रायबरेली पहुंचते ही प्रियंका गांधी ने हनुमान मंदिर में पूजा-अर्चना की और मंदिर के पुजारी से आशीर्वाद लिया. हालांकि, इस दौरान कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ गए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें