scorecardresearch
 

यूपी: नोएडा में कार से 25 लाख बरामद, पंचायत चुनाव में इस्तेमाल का शक

नोएडा पुलिस ने चेकिंग के दौरान कार से 25 लाख रुपये कैश बरामद किया है. इस कैश को लेकर कार सवार कुछ भी स्पष्ट जानकारी नहीं दे सके. पुलिस का मानना है कि ये रकम पंचायत चुनाव के लिए जा रही थी. 

नोएडा पुलिस ने कार से बरामद किया 25 लाख का कैश नोएडा पुलिस ने कार से बरामद किया 25 लाख का कैश
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नोएडा पुलिस जुटी पूरे मामले की छानबीन में 
  • पंचायत चुनाव के लिए रकम ले जाने का शक
  • कुछ भी स्पष्ट जानकारी नहीं दे सके कार सवार 

यूपी के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर सख्ती बरती जा रही है. पुलिस द्वारा चेकिंग अभियान भी चलाया जा रहा है. इसी क्रम में नोएडा पुलिस को सोमवार को बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने एक कार से चेकिंग के दौरान 25 लाख रुपये  कैश बरामद किया है. पुलिस ने इस मामले में आयकर विभाग को सूचना दे दी. वहीं अब इस कैश को लेकर आयकर विभाग की टीम अग्रिम कार्रवाई कर रही है. 

आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दृष्टिगत चुनावों को प्रभावित करने के उद्देश्य से अवैध शराब व अन्य प्रतिबंधित सामग्री को रोकने के लिये सभी थाना क्षेत्रों में चेकिंग अभियान जारी है. सोमवार थाना कासना पुलिस द्वारा थाना क्षेत्र स्थित ईस्टर्न पेरीफेरल के कासना सिरसा कट पर एक संदिग्ध वाहन को चेकिंग के लिए रोका गया. गाड़ी की तलाशी ली गयी. तलाशी के दौरान गाड़ी की डिग्गी से 25 लाख रुपये की नकदी बरामद हुई. ये रकम कागज में लिपटी हुई थी. 

पुलिस द्वारा कार सवार लोगों से इस रकम के बारे में जानकारी लेने के लिए पूछताछ की, तो कोई भी स्पष्ट जवाब नहीं दे पाया, जिसके बाद पुलिस ने इस रकम को जब्त करते हुए आयकर विभाग को सूचना दे दी. पुलिस ने कार सवार लोगों के नाम रोहित गर्ग पुत्र सुनील कुमार गर्ग निवासी डी-199 सैक्टर पी-3 ग्रेटर नोएडा, मृदुल गर्ग पुत्र देवेन्द्र गर्ग  निवासी डी-199 सैक्टर पी-3 ग्रेटर नोएडा, विवेक गर्ग पुत्र सुनील गर्ग निवासी  डी-199 सैक्टर पी-3 ग्रेटर नोएडा और देवेन्द्र गर्ग पुत्र ओमप्रकाश गर्ग निवासी डी-199 सैक्टर पी-3 ग्रेटर नोएडा  बताया है. 

पुलिस पूछताछ के दौरान आरोपियों ने इस रकम से संबंधित कोई कागजात भी नहीं दिखाया. पुलिस का मानना है कि ये रकम यूपी में होने जा रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में खर्च के उद्देश्य से ले जाई जा रही थी. फिलहाल पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है. वहीं इस मामले में आयकर विभाग द्वारा भी कार्रवाई की जा रही है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें